ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

प्रमुख समाचार

पूर्वोत्तर में होगा रेल नेटवर्क का विस्तार, रेलवे ने कसी कमर!

आकास श्रीवास्तव

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़, नई दिल्ली

१७ मई २०१८

दिल्ली: रेलवे अगले दो वर्षों में मणिपुर, मिजोरम, मेघालय, सिक्किम और नगालैंड की राजधानियों को रेलमार्ग से जोड़ने की योजना बना रहा है। भारतीय रेलवे पांच उत्तर पूर्वी राज्यों के साथ चीन, म्यांमार और बांग्लादेश के सीमावर्ती इलाकों को जोड़ने के लिए कम से कम 40,000 करोड़ रुपये की लागत की कई परियोजनाओं पर काम करेगा। इन परियोजनाओं के तहत कुल 1500 किलोमीटर से अधिक लंबी रेल लाइनें बिछाई जाएंगी। इसके अलावा इन योजनाओं के तहत भारत का सबसे लंबा डबल डेकर रेल-कम-रोड पुल, एक काफी लंबी रेल सुरंग और खंभों पर टिका दुनिया का सबसे ऊंचा रेल पुल बनाने की योजना है।


ये लाइनें गुवाहाटी में मौजूदा परिचालन नेटवर्क के साथ सभी उत्तर पूर्व राज्यों की राजधानियों को जोड़ेंगी। इससे लोगों को सस्ता विकल्प मिलेगा और माल ढुलाई को भी बढ़ावा मिलेगा।' उन्होंने कहा, 'कई सामरिक लाइनें भी हैं, जो रक्षा बलों की मदद करेंगी।' असम, अरुणाचल प्रदेश और त्रिपुरा पहले से ही रेल से जुड़े हैं, जबकि मेघालय, मणिपुर, मिजोरम, सिक्किम और नगालैंड की राजधानियां अभी तक नहीं जुड़ी हैं। रेलवे मणिपुर में इम्फाल को जोड़ने के लिए असम सीमा पर स्थित मणिपुर के जिरीबाम से 111 किलोमीटर की रेल लाइन भी बना रहा है। अधिकारी ने बताया, 'इम्फाल के जरिए हम म्यांमार सीमा पर मोरेह तक भी पहुंच सकते हैं। इस लाइन के बारे में स्टडी की गई है। इम्फाल से इसकी दूरी लगभग 100 किमी है।' रेलवे त्रिपुरा के अगरतला में बांग्लादेश से लिंक बना रहा है, जो त्रिपुरा और कोलकाता की यात्रा में लगने वाले मौजूदा 24 घंटों के समय को 10 घंटे से भी कम कम कर देगा। रेलवे बोर्ड के प्रवक्ता वेद प्रकाश ने कहा, 'इसके साथ ही मेघालय, मिजोरम, नगालैंड और सिक्किम के राजधानियों में भी रेल लाइनों का निर्माण करने का काम चल रहा है। इनमें से अधिकतर लाइनें गुवाहाटी से जुड़ेंगी और ये साल 2020 तक पूरी हो जाएंगी।' उत्तर पूर्व के सीमावर्ती राज्यों में इन रेल लाइनों के माध्यम से आने वाले वर्षों में भारत म्यांमार और बांग्लादेश के साथ नए रेल लिंक भी जोड़ेगा।

रेलवे ने अरुणाचल प्रदेश में 180 किलोमीटर की रेलवे लाइन की भी योजना बनाई है, जो तवांग में चीन सीमा तक कनेक्टिविटी देगी। इसके अलावा मणिपुर में इंफाल से म्यांमार सीमा पर मोरेह तक एक और रेल लाइन बनाई जाएगी। त्रिपुरा और बांग्लादेश को अगरतला में जोड़ने वाले एक रेल लिंक का भी निर्माण किया जाएगा।




जरा ठहरें...
दिल्ली रहने लायक नहीं, सरकारी सर्वेक्षण में देश में 65 वां स्थान!
रेल ब्लॉक के चलते बड़ी संख्या में रेलगाड़ियां रद्द करने का फैसला
अब प्रियंका गांधी रायबरेली से लड़ेंगी २०१९ का लोकसभा चुनाव?
रेलवे में फ्लैक्सी किराया लगने से ७ लाख यात्री दूर, कैग ने रेलवे को लगाई लताड़!
आजाद भारत के 1.84 करोड़ लोग गुलाम, और 12 करोड़ बेरोजगार
भाप इंजन की रेलगाड़ी एक बार फिर दौड़ेगी पटरी पर!
Exclsuive: ‘गुड़गांव पुलिस से एक पति की गुहार, मेरी पत्नी को भाजपा अध्यक्ष से बचाइए’
उत्तर रेलेव का दिल्ली डिवीजन बना भ्रष्टाचार का अड्डा!
चूहों ने कुतर डाला एटीएम में लाखों रूपए के नोट
मोदी और योगी ‘राज’ में अटल बिहारी का पुश्तैनी घर खंड़हर में हो गया तब्दील!
मुफ्त गैस कनेक्शन के पीछे सरकार का खेल, 8 करोड़ को दो 80 करोड़ से लो!
शाह के बेटे की संपत्ति एक साल में १६ हजार गुना बढ़ी -कांग्रेस
कांग्रेस ने कहा बुलेट ट्रेन का समझौता 2013 में ही हुआ था, मोदी देश को बरगला रहे हैं!
19 साल बाद भी रेल हादसे का मुआवजा वही है!
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.