ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

प्रमुख समाचार

दिल्ली में की जाएगी कृत्रिम बारिश!

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़

नई दिल्ली, ६ नवंबर २०१८

दिल्ली की जहरीली हवा को साफ-सुथरा बनाने के लिए कृत्रिम बारिश कराने की तैयारी की जा रही है। भारतीय मौसम विभाग और भारतीय अंतरिक्ष शोध संगठन के एयरक्राफ्ट की मदद से सेंट्रल पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड और आईआईटी कानपुर के रिसर्चर्स क्लाउड सीडिंग की योजना बना रहे हैं।


इस मामले में आईआईटी कानपुर ने कहा है, ‘हम अपनी तरफ से बनावटी बारिश कराने के लिए तैयार हैं। हम इसके लिए सही परिस्थिति का इंतजार कर रहे हैं।’ उन्होंने बताया कि मौसम विभाग कृत्रिम बारिश के लिए मौसम के हालात पर नजर रखे हुए हैं। त्रिपाठी ने बताया कि 10 नवंबर तक का मौसम इसके लिए ठीक नहीं है। कृत्रिम बारिश से दिल्ली की हवा की गुणवत्ता में सुधार हो सकता है। इसके लिए क्लाउड सीडिंग की कोशिशें जल्द शुरू होंगी। माना जा रहा है कि 10 नवंबर के बाद इस पर काम शुरू हो सकता है। ऐसा पहली बार है, जब देश में किसी शहर के प्रदूषण को कम करने के लिए कृत्रिम बारिश का सहारा लिया जा रहा है।

आईआईटी कानपुर के एक प्रोफेेसर के अनुसार यह पहली कोशिश के नतीजों और आने वाले दिनों में पलूशन के लेवल से तय होगा। वैसे यह कराना आसान नहीं है। त्रिपाठी ने कहा, ‘मॉनसून से पहले और मॉनसून के दौरान बादलों से कृत्रिम बारिश कराना आसान होता है, लेकिन सर्दियों के मौसम में इसमें मुश्किल आती है।


उसकी वजह यह है कि इस वक्त बादलों में नमी कम होती है।’ इस पूरी परियोजना को सीपीसीबी ने मंजूरी दी है और इसके लिए फंड केंद्र सरकार देगी। आईआईटी कानपुर कृत्रिम बारिश के लिए सॉल्ट मिक्स की सप्लाई करेगा और इसरो एयरक्राफ्ट और क्रू देगा।



जरा ठहरें...
सरकार ने पांच साल के लिए आठ उग्रवादी संगठनों पर प्रतिबंध बढ़ाया
आरबीआई के बाद सीबीआई, उर्जित पटेल देंगे इस्तीफा?
वर्मा ईमानदार आदमी थे, भ्रष्टाचार से लड़ रहे थे - स्वामी
एसबीआई एटीएम से अब २० हजार से ज्यादा नहीं निकाल पाएंगे
राफेल पर महाभारत: राहुल बोले देश का चौकीदार चोर है!
'अखिलेश राज में 97 हजार करोड़ कहां खर्च हुए कोई हिसाब नहीं'
मधुबनी पेंटिंग से सुज्जित चली बिहार संपर्क क्रांति ट्रेन
दिल्ली रहने लायक नहीं, सरकारी सर्वेक्षण में देश में 65 वां स्थान!
रेलवे में फ्लैक्सी किराया लगने से ७ लाख यात्री दूर, कैग ने रेलवे को लगाई लताड़!
मुफ्त गैस कनेक्शन के पीछे सरकार का खेल, 8 करोड़ को दो 80 करोड़ से लो!
19 साल बाद भी रेल हादसे का मुआवजा वही है!
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.