ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

ताजा समाचार

देश में 21 दिन का लॉकडाऊन, घरों से निकलना भूल जाएं - प्रधानमंत्री मोदी

आकाश श्रीवास्तव

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़

नई दिल्ली, 24 मार्च 2020

आज रात 12 बजे से पूरे देश में लॉक डाऊन लगा दिया गया है। प्रधानमंत्री ने कहा यह एक तरफ से कर्फ्यू ही है। प्रधानमंत्री ने कहा कि 21 दिन तक घर से निकलना भूल जाइए। पीएम मोदी ने देश को संबोधित करते हुए कहा कि जनता ने कर्फ्यू को सफल बनाया है। ऐसा नहीं है कि जो देश प्रभावित हैं वह प्रयास नहीं कर रहे हैं और न ऐसा कि वहां संसाधनों की कमी है। इन देशों को दो महीने के अध्ययन से यही निष्कर्स निकल रहा है कि एक मात्र ही रास्ता है सोशल डिस्टैसिंग यानी अपने घरों में बंद रहना इसके अलावा कोई और रास्ता नहीं है। कोरोना को लेकर ऐसी लापरवाही भारत को बहुत बड़ी कीमत चुकानी पड़ेगी।


पीएम मोदी ने कहा कि दो दिनों से देश के अनेक भागो में लॉक डाउन कर दिया है. इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को राष्ट्र के नाम संदेश में रविवार को ‘जनता कर्फ्यू’ लागू करने और लोगों से घर-घर दूध, अखबार, राशन पहुंचाने वालों, पुलिसकर्मियों, स्‍वास्‍थ्‍य कर्मियों और मीडियाकर्मियों के प्रति आभार जताने की अपील की थी। लोगों ने ऐसा किया भी था। फिलहाल कोरोना वायरस की वजह से 32 राज्यों में लॉकडाउन है। कोरोना से निपटने के लिए केंद्र और राज्य सरकारें रोजमर्रा की  जिंदगी में दिक्कत न हो इसलिए आवश्यक चीजों की सप्लाई जारी रखने के लिए सुनिश्चित की जा रही है. विश्व स्वास्थ्य संगठन औऱ विशेषज्ञों की सलाह ली जा रही है. कोरोना के मरीजों का इलाज करने के लिए 15 हजार करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है। इससे संसाधन बढ़ाए जाएंगे. इस समय सभी राज्यों की प्राथमिकता स्वास्थ्य , सेवाएं ही होनी चाहिए। प्राइवेट लैब और अस्पताल भी साथ आ रहे हैं। इस बीच एक बात और ध्यान रखना है कि किसी भी तरह की अफवाह और अंधविश्वास बचें बिना डॉक्टरों की सलाह के कोई दवा न लें।

पीएम मोदी ने कहा कि भारत आज उस स्टेज पर है जहां आज के ऐक्शन तय करेंगे कि हम इसे कितना रोक सकते है। यह समय संयम बरतने का है। पीएम मोदी ने अपील करते हुए कहा कि हमें अपना वचन निभाना है और उन लोगों के बारे में भी सोचना है जो इस महमारी, से एक-एक जीवन बचाने के लिए अस्पताल में काम कर रहे हैं। डॉक्टर, नर्स, वार्डब्वाय, के बारे में भी सोचिए। उन लोगों ेके बारे मेंं भी सोचिए जो मोहल्लों और गलियों को सैनिटाइज कर रहे हैं। मीडिया और पुलिसकर्मियोंके बारे में भी जो आपको बचाने के लिए दिन रात ड्यूटी कर रहे हैं।


 एक्सपर्ट और अन्य देशों को अनुभव को देखते हुए आज रात 12 बजे से पूरे देश में लॉकडाउन होने जा रहा है. एक एक जीवन बचाना, मेरी, भारत सरकार की, राज्य सरकार औऱ नगर निकायों की प्राथमिकता है. इसलिए मेरी प्रार्थन है कि 21 दिन तक यानी 3 हफ्ते तक जहां हैं वहीं रहें. हेल्थ एक्सपर्ट की माने तो कोरोना वायरस की साइकिल तोड़ना बहुत जरूरी है। अगर ये 21 दिन नहीं संभले तो कई परिवार हमेशा के लिए तबाह हो जाएंगे। पीएम मोदी ने कहा कि यह बात मैं प्रधानमंत्री के तौर पर नहीं आपके परिवार के सदस्य के तौर पर कह रहा हूं। आज आपके दरवाजे पर लक्ष्मण रेखा खींच दी गई है। घर से बाहर पड़ने वाला एक कदम कोरोना जैसी बीमारी को घर लेकर आ सकता है।


पीएम मोदी ने कहा कि कई बार कोरोना संक्रमित शख्स भी स्वस्थ रह सकता है. इस महामारी संक्रमित व्यक्ति हफ्ते 10 दिन में सैकड़ों लोगों को बीमार कर सकती है। WHO का आंकड़ा है कि पहले 1 लाख तक लोगों तक पहुंचने में इसे 68 दिन लगे थे लेकिन 2 लाख लोगों तक पहुंचने में सिर्फ 11 दिन लगे और 3 लाख लोगों तक पहुंचने में सिर्फ 4 दिन लगे. अब आप अंदाजा लगा सकते हैं कि इसे रोकना बहुत मुश्किल होता है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि चीन अमेरिका, इटली, फ्रांस जैसे देश में यह संभाल नहीं पाए। इन देशों की स्वास्थ्य सेवाएं भी बहुत बेहतर हैं। लेकिन इससे निपटने की उम्मीद किरण ये है कि इन देशों के नागरिकों ने सरकारी निर्देशों का पालन किया और घर से बाहर हफ्तों कैद रहे। इसलिए कुछ भी हो जाए अब कुछ भी हो जाए घर से बाहर नहीं निकलना है। हमें इस महामारी को रोकना है।



जरा ठहरें...
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.