ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

धर्म/तीज़-त्यौहार

राम मंदिर के लिए खोलकर भक्तों ने दिया दान
जानिए किसने कितना दिया सबसे ज्यादा दान

आकाश श्रीवास्तव

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़ नेटवर्क

अयोध्या, उ.प्र.

अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण तेजी हो रहा है। मंदिर निर्माण के लिए राम भक्तो ने खुलकर दान किया है। श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के मुताबिक, मंदिर के समर्पण निधि वाले अकाउंट में ही अब तक 3200 करोड़ रुपए आ चुके हैं। अब तक राम मंदिर को करीब 5000 करोड़ रुपए का दान मिल गया है। निर्माणाधीन राम मंदिर में भगवान रामलला की प्राण-प्रतिष्ठा को अब कुछ दिन ही शेष हैं।भगवान श्रीराम के भव्य मंदिर के लिए देश-विदेश से रामभक्तों ने दिल खोलकर दान दिया है. जब अयोध्या में राम मंदिर निर्माण की नींव रखी गई तो किसी को यकीन नहीं था कि रामभक्त इस कदर दान करेंगे कि उसके ब्याज के पैसे से ही मंदिर का पहला तल बनकर तैयार हो जाएगा।

श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की मानें तो राम मंदिर निर्माण के लिए अब तक करीब 18 करोड़ रामभक्तों ने भारतीय नेशनल बैंक, पंजाब नेशनल बैंक और बैंक ऑफ बड़ौदा के खाते में करीब 3,200 करोड़ रुपये समर्पण निधि जमा की है. ट्रस्ट ने इन बैंक खातों में आए दान के पैसे की एफडी करा दी थी, जिससे मिलने वाले ब्याज से ही मंदिर के वर्तमान स्वरूप तक का निर्माण हो गया है। सबसे अधिक दान किसने दिया? श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की वेबसाइट पर दी गई जानकारी के मुताबिक, अयोध्या में बन रहे भव्य राम मंदिर के लिए अब तक सबसे अधिक दान अध्यात्मिक गुरु और कथावाचक मोरारी बापू ने दिया है. मोरारी बापू ने राम मंदिर के लिए 11.3 करोड़ रुपये का दान दिया है।

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए चंदा इकट्ठा करने के अभियान यानी धन संचय अभियान की शुरुआत 14 जनवरी 2021 को तब के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने की थी। रामनाथ कोविंद ने ही राम मंदिर के लिए सबसे पहले चंदा दिया। उन्होंने चेक के जरिये पांच लाख रुपये का चंदा श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट को दिया था। सबसे पहले किस देश से आया था विदेशी चंदा अयोध्या स्थित रामलला के मंदिर के लिए सबसे पहला विदेशी चंदा अमेरिका से आया था। अमेरिका में बैठे एक राम भक्त (नाम जाहिर नहीं) ने पहले दान के रूप में 11 हजार रुपये मंदिर ट्रस्ट को भेजे थे.

रामलला की प्राण-प्रतिष्ठा 22 जनवरी 2024 को है. इस समारोह की तैयारी अब अंतिम चरण में है। रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के लिए शुभ मुहूर्त का क्षण 84 सेकंड का है, जो 12 बजकर 29 मिनट 8 सेकंड से 12 बजकर 30 मिनट 32 सेकंड तक होगा. भगवान रामलला की प्राण प्रतिष्ठा पीएम मोदी के हाथों होगी। इस दौरान गर्भ गृह में पीएम मोदी के अलावा चार लोग मौजूद रहेंगे। यहां ध्यान देने वाली बात है कि राम मंदिर ट्रस्ट ने देश के 11 करोड़ लोगों से 900 करोड़ रुपए जुटाने का लक्ष्य रखा था।मगर दिसंबर तक भगवान राम के मंदिर के लिए करीब 5 हजार करोड़ से अधिक का दान प्राप्त हो चुका है अमेरिका, कनाडा और यूनाइटेड किंगडम में स्थित उनके अनुयायियों ने सामूहिक रूप से अलग से 8 करोड़ रुपये का दान दिया है। वहीं, राम मंदिर निर्माण के लिए गुजरात के हीरा कारोबारी गोविंदभाई ढोलकिया ने 11 करोड़ रुपये का दान दिया है। गोविंदभाई ढोलकिया डायमंड कंपनी श्रीरामकृष्णा एक्सपोर्ट्स के मालिक हैं। 








जरा ठहरें...
दिल्ली स्थित हरीनगर में संतोषी माता मंदिर में चैत्र नवरात्र महोत्सव की तैयारी पूरी
इस बार चैत्र नवरात्रि से पहले सूर्य ग्रहण का गजब संयोग
माँ सरस्वती व माँ नर्मदा मईया की पूजा अर्चना, दिन भर होगे धार्मिक अनुष्ठान
अयोध्या में 6 दिन में 15 लाख से अधिक श्रद्धालुओं ने किए राम लला के दर्शन
प्रधानमंत्री ने दिए विरोधियों को जवाब, "प्रभु राम आग नहीं ऊर्जा है "
"राम लला की जो विग्रह शोसल मीडिया पर दिख रही है वो सही नहीं है"
राम लला की प्राण प्रतिष्ठा महापर्व में सिर्फ अयोध्या में जलाए जाएंगे इतने दिए
राम लला की प्राण प्रतिष्ठा पर रोक के लिए इलाहाबाद उच्च न्यायालय में याचिका दायर
श्रीराम तीर्थ ट्रस्ट अयोध्या धाम ने दुनिया भर के रामभक्तों को दिया यह काम
रावण के वध के बाद प्रभु राम इतने वर्षों तक अयोध्या में राज किए
पूर्व केंद्रीय मंत्री विजय गोयल ने चांदनी चौक में बांटे भगवान के अक्षत और बांटे दीपक
इन विशेषताओं से परिपूर्ण तैयार हो रहा है प्रभु श्रीराम का दिव्य भव्य मंदिर
राम लला की प्राण प्रतिष्ठा के लिए प्रधानमंत्री का 12 जनवरी से कठिन अनुष्ठान शुरू
‘पतंजलि गुरुकुलम्’ की नई शाखा का हुआ शिलान्यास
योगानंद के जीवनोत्सव पर योगदा सत्संग आत्मसाक्षात्कार के हिंदी में नए पाठमाला का विमोचन एक ऐतिहासिक उपलब्धि: स्वामी ईश्वरानंद
श्री श्री परमहंस योगानन्द के जीवन का विश्व पर अत्यन्त प्रेरक प्रभाव
22 जनवरी 2024 को अयोध्या जी में प्राण प्रतिष्ठा के संदर्भ में अक्षत वितरण
योगावतार के जीवन से अमृतपान - श्री श्री लाहिड़ी महाशय की 195वीं जयंती विशेष
सनातम धर्म सबसे उदार है जो सभी स्वीकार्य है - सलमान खुर्शीद, कांग्रेस नेता
श्रीरामायण यात्रा रेल से करिए पूरे भारत में भगवान राम से जुड़े पवित्र तीर्थ स्थलों का दर्शन
विख्यात कोईरीपुर के शिवालय की अष्टधातु की मूर्ति पुजारी ने ही बेच दी
...ऐसा होगा भव्य भगवान राम का मंदिर जिसे निहारेगी सारी दुनिया...!
आयोध्या पर सर्वोच्च फैसला: सत्यमेव जयते...!
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
चीन मुद्दे पर क्या सरकार ने जितने जरूरी कठोर कदम उठाने थे, उठाए कि नहीं?
हां
नहीं
पता नहीं
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.
Design & Developed By : AP Itechnosoft Systems Pvt. Ltd.