ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

प्रमुख समाचार

सरकार ने शिक्षा क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए ऑनलाइन पोर्टल शुरू किया
रमेश पोखरियाल ने एकीकृत ऑनलाइन जंक्शन ‘स्कूल एजुकेशन शगुन’ शुरू किया

आकाश श्रीवास्तव

नई दिल्ली

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने स्कूली शिक्षा के क्षेत्र को मजबूती देने के मकसद से विश्व के सबसे बड़े ऑनलाइन जंक्शनों में शामिल  एकीकृत ऑनलाइन जंक्शन ‘स्कूल एजुकेशन शगुन’ का शुभारंभ दिल्ली में किया। इस ऑनलाइन जंक्शन के जरिए स्कूली शिक्षा से जुड़े सभी ऑनलाइन पोर्टल्स और वेबसाइट को जोड़ने की पहल की गई है। इस मौके पर मानव संसाधन विकास राज्यमंत्री संजय शामराव धोत्रे भी मौजूद रहे। कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल ने कहा कि बेहतर शिक्षा के बिना किसी राष्ट्र, समाज या परिवार की उन्नति नहीं हो सकती।


शिक्षा तरक्की की नींव है और नींव जितनी मजबूत होगी, इमारत उतनी ज्यादा बेहतर होगी। ‘स्कूल एजुकेशन शगुन’ एक ऐसा ही प्लैटफॉर्म है, जिसके जरिए शिक्षा की नींव को मजबूती मिलेगी। ‘शगुन’ में श शब्द का आशय शाला से है, जिसका मतलब स्कूल से है और गुन से गुणवत्ता को दर्शाया गया है। केंद्रीय मंत्री ने आगे कहा कि 1200 केंद्रीय विद्यालयों, 600 नवोदय विद्यालयों, सीबीएससी से जुड़े 18000 स्कूलों, 30 एससीईआरटी और एनसीटीई से जुड़े 19000 संस्थानों की वेबसाइट्स को ‘स्कूल एजुकेशन शगुन’ पोर्टल से जोड़ा गया है। इस ऑनलाइन प्लैटफॉर्म के जरिए 15 लाख स्कूलों, 92 लाख शिक्षकों और करीब 26 करोड़ विद्यार्थियों की जानकारी ली जा सकती है। इसके जरिए योजनाओं की जानकारी लेने के साथ ही लोगों को स्कूलों से जुड़ी नई सूचनाएं भी मिलेंगी। पोखरियाल ने कहा कि हम चाहते हैं कि किसी के मन में कोई सवाल है, तो वह सवाल हम तक पहुंच सके। इस एकीकृत ऑनलाइन जंक्शन के जरिए लोग स्कूल के बारे में अपनी प्रतिक्रिया हम तक पहुंचा सकेंगे।

इसके साथ ही स्कूल शिक्षा से जुड़े समस्त आंकड़े एक जगह से प्राप्त कर सकेंगे। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने जिस नए भारत की कल्पना की है, जिसमें उन्होंने हमेशा कहा कि शिक्षा में तकनीक का बेहतर इस्तेमाल होना चाहिए। उसी दिशा में ‘स्कूल एजुकेशन शगुन’ स्कूली शिक्षा के स्तर को नई ऊंचाई पर ले जाने का काम करेगा। स्कूल एजुकेशन शगुन’ के जरिए विद्यार्थियों को ऑनलाइन पढ़ने के लिए सामग्री मिलेगी, साथ ही उन्हें वीडियो आधारित शिक्षा का अवसर भी मिलेगा। वेबसाइट के जरिए यह भी जाना जा सकता है कि आपके क्षेत्र में कौन-कौन से स्कूल हैं और वह क्या-क्या सेवाएं उपलब्ध करा रहे हैं।


इसके अलावा केंद्रीय मंत्री पोखरियाल ने ‘एकीकृत राष्ट्रीय स्कूली शिक्षा निधि’ (INSET) बनाने की भी घोषणा की, जिसके जरिए विद्यार्थियों, शिक्षकों ओर स्कूलों से जुड़ी तमाम सूचनाएं एक मंच से मिल सकेंगी।


कार्यक्रम में मौजूद मानव संसाधन विकास राज्यमंत्री संजय शामराव धोत्रे ने कहा कि ‘स्कूल एजुकेशन शगुन’ के जरिए स्कूलों से जुड़ी समस्त जानकारी एक साथ मिल सकेगी। स्कूलों की सुविधाओं के बारे में जानने के साथ ही उन्हें जांच कर उन पर अपने सुझाव भी दिए जा सकेंगे। धोत्रे ने कहा कि यह बहुत ही अच्छा कदम है, इससे बच्चों के सम्पूर्ण विकास में और मदद मिलेगी। इस मौके पर मानव संसाधन विकास मंत्रालय के विद्यालय शिक्षा विभाग की सचिव श्रीमती रीना रे समेत मंत्रालय के अन्य अधिकारी मौजूद रहे।


जरा ठहरें...
ख़ास: मोदी सरकार राष्ट्रपति भवन से लेकर इंडियागेट तक कायाकल्प करने की तैयारी पूरी की!
दिल्ली में ऊर्जा संरक्षण पर वैश्विक सम्मेलन का आयोजन!
नया यातायात नियम कहर बनकर टूट रहा है लोगों पर
प्रधानमंत्री ने दिल्ली में गुजरात भवन का कियाउद्घाटन
कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने देश को शर्मिंदा किया - प्रकाश जावडेकर
पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की एसपीजी सुरक्षा घटाई गयी
वित्त मंत्री ने अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए कई उपायों की घोषणा की
बालाकोट हमले के अंजाम देने वाले वायुसेना के जांबाजों को वीर पुरस्कार से सम्मानित
नया उपभोक्ता संरक्षण कानून लागू
अभूतपूर्व मोदी सरकार: जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन विधेयक राज्यसभा से पास
आज के इस ऐतिहासिक फैसले को हमने साल भर पहले ही ब्रेक कर दी थी..!
Alert: कैबिनेट बैठक से डेढ़ घंटा पहले पहुंचे गृहमंत्री प्रधानमंत्री आवास!
कश्मीर घाटी से यात्रियों और पर्यटकों को निकालने के लिए वायुसेना की मदद
जम्मू-कश्मीर सरकार के एडवाइजरी पर गृहमंत्री ने कहा इसे गंभीरता से लें!
सारे पर्यटक और अमरनाथ यात्री तुरंत कश्मीर छोड़ें - जम्मू कश्मीर सरकार
12 अगस्त को दुनिया के सबसे बड़े टीवी शो कार्यक्रम में दिखेंगे प्रधानमंत्री
सोनभद्र नरसंहार घटना को लेकर संसद परिसर में धरना प्रदर्शन
देश के एक-एक इंच जमीन से घुसपैठियों को बाहर करेंगे - गृहमंत्री
तो अब धारा 370 को खत्म करे सरकार...!
कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय के कर्मचारियों का मानदेय न्याय संगत किया जाए - एसोसिएशन
सात दिन में 5 सौ रेलवे स्टेशन वाई-फाई से जुड़े...!
मंगला एक्सप्रेस में गंदे पानी से बनाया जाता है सूप और अन्य चीज
ट्रेन-18 यानि वंदे भारत एक्सप्रेस का किराया लगभग हवाई जहाज के बराबर!
भारतीय रेलवे ने डीजल इंजन को विद्युत इंजन में तब्दील करके बनाया विश्व कीर्तिमान
रेलवे में फ्लैक्सी किराया लगने से ७ लाख यात्री दूर, कैग ने रेलवे को लगाई लताड़!
मुफ्त गैस कनेक्शन के पीछे सरकार का खेल, 8 करोड़ को दो 80 करोड़ से लो!
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.