ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

ताजा समाचार

इन बैंकों के चेक बुक 1 अप्रैल से अवैध हो जाएंगे
असुविधा से बचने के लिए अपने बैंकों से तुरंत संपर्क करें

आकाश श्रीवास्तव

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़ नेटवर्क

नई दिल्ली, 25 मार्च 2021

इन बैंक ग्राहकों  के लिए यह महत्वपूर्ण खबर है एक अप्रैल 2021 से देश के इन आठ बैंकों का पुराना चेक बुक काम नहीं करेगा. पुराना चेक बुक और आईएफएससी कोड को अवैध कर दिया जाएगा. 1 अप्रैल से आपका पुराना चेक बुक काम करना बंद कर देगा। अगर आपने बैंक का पुराना चेक किसी को दिया है तो बैंक उसे स्टॉप कर देगा। इसलिए अगर इन आठ बैंकों में से किसी भी बैंक में आपका खाता है तो समय रहते अपना चेक बुक बदल लें।


ये वही आठ सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक हैं जिनको सरकार ने हाल ही में दूसरे बैंकों के साथ मर्ज कर दिया है। बैंकों द्वारा चेक को इसलिए इंकार कर दिया जाएगा, क्योंकि उनकी खाता संख्या बदली रहेगी। इसलिए उन बैंकों के सभी चेक अवैध कर दिए जाएंगे। इसलिए, इन बैंकों के ग्राहकों को यहां पर यह सलाह दी जा रही है कि वे तुरंत अपने बैंक से संपर्क करके नया चेक बुक इश्यू करा लें। हम बता दें कि केंद्र सरकार ने कई बैंकों को एक साथ मर्ज कर दिया है। बैंकों पर बढ़ते एनपीए के बोझ को देखते हुए सरकार ने यह फैसला लेना पड़ा। जिसके बाद केंद्र सरकार ने इन बैंकों को एक साथ मर्ज किया। अब मर्जर के बाद इन बैंकों में आपकी खाता संख्या, आईएफएससी कोड और पासबुक आदि बदलने वाले हैं। अब इन बैंकों के ग्राहकों को अपना नया चेक बुक, पासबुक, और आईएफएससी कोड को लेना होगा। इसी बीच सिंडिकेट बैंक और केनरा बैंक के ग्राहकों को थोड़ा राहत मिली है।

सिंडिकेट बैंक का पहले का चेकबुक 30 जून तक वैध रहेगा। उसके बाद नया चेक बुक लेना पड़ेगा। देना बैंक, विजया बैंक, ओरियंटल बैंक ऑफ कॉमर्स, यूनाइडेट बैंक ऑफ इंडिया, सिंडिकेट बैंक, आंध्रा बैंक, कॉर्पोरेशन बैंक और इलाहाबाद बैंक के चेक बुक 1 अप्रैल 2021 से अवैध कर दिए जाएंगे। मर्जर के बाद इन बैंकों के चेकबुक 31 मार्च 2021 के बाद अवैध माने जाएंगे।





जरा ठहरें...
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
चीन मुद्दे पर क्या सरकार ने जितने जरूरी कठोर कदम उठाने थे, उठाए कि नहीं?
हां
नहीं
पता नहीं
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.