ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

प्रमुख समाचार

सर्वोच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश अरुण कुमार मिश्रा बने राष्ट्रीय मानवाधिकार के अध्यक्ष

आकाश श्रीवास्तव

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़ नेटव्रक

नई दिल्ली, 2 जून 2021

सर्वोच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश अरुण कुमार मिश्रा राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के अध्यक्ष के रूप में आज अपना पदभार संभाला। सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाली समिति ने उनके नाम को मंजूरी दी थी। NHRC के अध्यक्ष का पद पिछले छह महीने से खाली था। सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाली समिति ने उनके नाम को मंजूरी दी गई। पीएम की अध्यक्षता वाली समिति में गृह मंत्री अमित शाह लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला राज्यसभा में नेता विपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे और राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश शामिल थे।

जम्मू कश्मीर हाई कोर्ट के पूर्व चीफ जस्टिस महेश कुमार मित्तल और आईबी के पूर्व निदेशक डॉ राजीव जैन को एनएचआरसी का सदस्य बनाया गया है। पीएम की अध्यक्षता वाली उच्च स्तरीय समिति में गृह मंत्री अमित शाह, लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला, राज्यसभा में नेता विपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे और राज्य सभा के उपसभापति हरिवंश शामिल थे। मध्य प्रदेश के जबलपुर के रहने वाले न्यायाधीश अरुण कुमार मिश्रा ने विज्ञान में एमए की डिग्री लेने के बाद क़ानून की पढ़ाई की। उनके परिवार में वकालत पहले से है। उनके पिता हरगोविंद मिश्रा जबलपुर हाई कोर्ट के जज थे, जबकि उनके परिवार में कई रिश्तेदार नामी वकील हैं। उनकी बेटी भी दिल्ली हाई कोर्ट की वकील हैं। लगभग 21 सालों तक वकालत करते रहने के बावजूद उन्होंने क़ानून पढ़ाने का काम भी किया और मध्य प्रदेश में ग्वालियर के जीवाजी विश्वविद्यालय से जुड़े रहे। जस्टिस अरुण मिश्रा को सबसे पहले वर्ष 1999 में उन्हें मध्य प्रदेश हाई कोर्ट के अतिरिक्त जज के रूप में नियुक्त किया गया। 

फिर जब उनकी नियुक्ति परमानेंट हुई, तो वर्ष 2010 में उनका तबादला राजस्थान हाई कोर्ट में कर दिया गया। साल 2012 में उन्हें कोलकाता हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश बन गए थे। सुप्रीम कोर्ट में उनकी नियुक्ति लंबित रही, साल 2014 में उन्हें सुप्रीम कोर्ट का जज बनाया गया। सुप्रीम कोर्ट की एक खंडपीठ ने जाने-माने वकील प्रशांत भूषण को न्यायालय की अवमानना मामले में दोषी ठहराते हुए उन पर एक रुपए का जुर्माना लगाया। इस तीन सदस्यीय खंडपीठ की अध्यक्षता जस्टिस अरुण कुमार मिश्रा कर रहे थे, जबकि इसमें जस्टिस बीआर गवई और जस्टिस कृष्ण मुरारी भी शामिल थे। सुप्रीम कोर्ट से जस्टिस अरुण मिश्रा 2 सितंबर 2020 को रिटायर हुए थे। 




सर्वोच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश अरुण कुमार मिश्रा राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के अध्यक्ष के रूप में आज अपना पदभार संभाला।




जरा ठहरें...
कई मुद्दों को लेकर सदन में विपक्ष का हंगामा, संसद स्थगित
दुनियाभर के चिकित्सा विशेषज्ञों ने कोरोना की तीसरी लहर की घोषणा की
उ.प्र, के नए पुलिस महानिदेशक को लेकर मंथन शुरू, 31 नामों की सूची केंद्र को भेजा गया
चीन ने फिर दिखाई दगाबाजी, पूर्वी लद्दाख के तरफ फिर बढ़े चीनी सैनिक
कोरोना की वजह से ये गाड़ियां रहेंगी प्रभावित, जानिए वो कौन सी हैं गाडियां
चुनावी रण नीतिकार से प्रशांत किशोर ने लिया संयास
दिल्ली से लखनऊ चलने वाली तेजस को नहीं मिल रहे यात्री, अनिश्चितकाल के लिए बंद
विज्ञान, तकनीकि और हौसले की मिसाल है दुनिया का यह सबसे ऊंचा रेलवे पुल
गुणों की खान बाजार में आयी लाल भिंडी
घर घर पहुँचे विधानसभा प्रत्यासी, आम जनता से सीधे किया जन संम्पर्क
आम जनता से सीधे जनसंम्पर्क किया मटियाला विधानसभा के प्रत्याशी आकाश श्रीवास्तव ने
ख़ास: मोदी सरकार राष्ट्रपति भवन से लेकर इंडियागेट तक कायाकल्प करने की तैयारी पूरी की!
मुफ्त गैस कनेक्शन के पीछे सरकार का खेल, 8 करोड़ को दो 80 करोड़ से लो!
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Third Eye World News: वीडियो
चौकिए मत यह भारत का...
Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
चीन मुद्दे पर क्या सरकार ने जितने जरूरी कठोर कदम उठाने थे, उठाए कि नहीं?
हां
नहीं
पता नहीं
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.