ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

प्रमुख समाचार

जम्मू – कश्मीर में सुरंग नहीं देश की मजबूत रीढ़ तैयार कर रही है सरकार
जोजिला सुरंग के बनने के बाद पूरा देश 12 महीने सीधे लेह लद्दाख से जुड़ जाएगा

आकाश श्रीवास्तव

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़ नेटवर्क

जोजिला, कश्मीर, 1 अक्टूबर 2021

जम्मू कश्मीर को लेह लद्दाख तक साल के बारह महीने सड़क मार्ग से जोड़ने के लिए सरकार ने पूर राज्य में 20 सुरंगों का निर्माण कार्य कर रही है जिसे युद्ध स्तर पर पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। इन सभी सुरंगों का जो बजट है लगभग एक लाख करोड़ से ज्यादा का बजट रखा गया। इन सुंरगों के बन जाने श्रीनगर सहित पूरे देश का संपर्क कन्याकुमारी से लेकर लेह लद्दाख तक साल के 12 महीने जुड़ जाएगा। जो पूरे देश के लिए आर्थिक, रणनीतिक-सामरिक दृष्टि से महत्वपूर्ण हो जाएगा। 

एक तरह से यदि यह कहा जाए कि ये सुरंग, सुरंग नहीं बल्कि देश की एक मजबूत रीढ़ तैयार की जा रही है तो गलत नहीं होगा। वहीं सुरंग को बनाने वाली कंपनी मेघा इंजीनियरिंग एंड इंफ्रास्ट्रक्चर के एमडी कृष्णा रेड्डी का कहना है कि सुरंग के भीतर रोड के दोनों तरफ, हर 750 मीटर पर इमर्जेंसी ले-बाई होंगे। कैरियजवे के दोनों तरफ भी साइडवॉक्‍स होंगी। यूरोपीय मानकों के अनुसार, हर 125 मीटर की दूरी पर इमर्जेंसी कॉल करने की सुविधा होगी। पूरी सुरंग में ऑटोमेटिक फायर डिटेक्‍शन सिस्‍टम मैनुअल फायर अलार्म का बटन भी होगा। इस सुरंग से गुजरने वाले हर व्हीकल के ड्राइवर के पास पोर्टेबल एक्‍सटिंग्विशर भी मौजूद होना चाहिए। उनका कहना है कि सुरंग की दीवारों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे। सुरंग शुरू होने और खत्‍म होने पर खंभे लगाकर कैमरा इंस्‍टॉल होंगे। सारा डेटा और इमेज/वीडियो कम्‍युनिकेशंस लाइंस के जरिए कंट्रोल रूम भेजा जाएगा।

सुरंग कार्यनिर्माण की निरीक्षण करने के लिए केंद्रीय भूतल परिवहन राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि 2024 में लोकसभा चुनाव हैं। हम चाहते हैं कि जो परियोजनाएं इस समय में चल रही हैं, उन्हें चुनाव से पहले पूरा किया जाए। जोजिला सुरंग का निरीक्षण दौरा करने के बाद गडकरी ने कहा कि जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में 31 सुरंगें बनाई जा रही हैं। सुरंग की नींव मई 2018 में ही रख दी गई थी। लेकिन टेंडर पाने वाली कंपनी IL&FS दिवालिया हो गई। उसके बाद हैदराबाद की मेघा इंजीनियरिंग इंफ्रास्ट्रक्चर को 4,509.5 करोड़ रुपये में इसका ठेका मिला। सरकार का दावा है कि वह प्रॉजेक्‍ट की रिमॉडलिंग के जरिए 3,835 करोड़ रुपये बचा लेगी। पूरे प्रॉजेक्‍ट की अनुमानित लागत 6,808.63 करोड़ रुपये है। 

जोजिला दर्रे के नीचे, समुद्र तल से करीब 3,000 मीटर की ऊंचाई पर यह सुंरग बनायी जा रही है।  केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि लद्दाख को कश्मीर से जोड़ने वाली एशिया की सबसे लंबी जोजिला टनल को दिसंबर 2023 में तैयार कर लिया जाएगा। निर्माण एजेंसी को निर्देश दे दिए गए हैं। 26 जनवरी 2024 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से जोजिला टनल का उद्घाटन करवाया जाएगा। 

रोड कनेक्टिविटी के तहत जम्मू-कश्मीर में 20 और लद्दाख में 11 टनल बन रही हैं जिनकी कुल लंबाई 52 किलोमीटर है। इन सुरंगों के निर्माण की लागत 1.4 लाख करोड़ है। अगले चरण में दोनों प्रदेशों को एक लाख करोड़ की और राशि जारी की जाएगी। गडकरी ने कहा कि मोदी सरकार ने पिछले दो वर्ष में जम्मू-कश्मीर की सड़क परियोजनाओं में जितना काम किया है, उतना कार्य करने में इससे पूर्व 50 वर्ष लग गए थे। यह सुरंग सेना के साथ-साथ आम जनता और पर्यटकों के लिए भी बेहद अहम है। इसके पूरा होने पर कश्मीर घाटी से लद्दाख का संपर्क बारहों महीने बना रहेगा।

अभी लेह और लद्दाख भारत के भू-भाग से साल में पांच-छह महीने कटे रहते हैं। ऐसे में वहां न सिर्फ आटा, दाल, चावल बल्कि हरी मिर्च, अदरक और धनिया पत्ते तक जमा कर के रखने पड़ते हैं। जब यह सुरंग तैयार हो जाएगी तो लेह-लद्दाख में महीनों का राशन स्टोर करके नहीं रखना होगा। यह सुरंग बनने के बाद श्रीनगर, द्रास, करगिल और लेह के इलाके हर मौसम में जुड़े रहेंगे। रणनीतिक रूप से भी यह बेहद महत्‍वपूर्ण है क्‍योंकि इस रोड के जरिए सियाचिन में तैनात जवानों को भी सप्‍लाई जाती है। सर्दियों में बाकी देश से कटे रहने वाले यह इलाके जब पूरे साल देश से जुड़ेंगे तो उनका विकास तेजी से होगा। इसकी डिमांड पिछले 30 साल से हो रही थी। अब श्रीनगर-करगिल-लेह के रास्‍ते में हिमस्‍खलन का डर नहीं रहेगा।



जोजिला सुरंग का निरीक्षण करने पहुंचे सड़क परिवहन मंत्री नितिन गड़करी। उनके साथ हैं राज्य मंत्री जनरल सेवि. वीके सिंह।




जरा ठहरें...
भारत ने दुनिया का सबसे बड़ा मुफ्त टीकाकरण अभियान चलाया - बिरला
बिजली संकट नहीं, कोयले की पर्याप्त भंडार - केंद्र सरकार
दिल्ली से लखनऊ चलने वाली तेजस को नहीं मिल रहे यात्री, अनिश्चितकाल के लिए बंद
विज्ञान, तकनीकि और हौसले की मिसाल है दुनिया का यह सबसे ऊंचा रेलवे पुल
गुणों की खान बाजार में आयी लाल भिंडी
घर घर पहुँचे विधानसभा प्रत्यासी, आम जनता से सीधे किया जन संम्पर्क
आम जनता से सीधे जनसंम्पर्क किया मटियाला विधानसभा के प्रत्याशी आकाश श्रीवास्तव ने
ख़ास: मोदी सरकार राष्ट्रपति भवन से लेकर इंडियागेट तक कायाकल्प करने की तैयारी पूरी की!
मुफ्त गैस कनेक्शन के पीछे सरकार का खेल, 8 करोड़ को दो 80 करोड़ से लो!
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
चीन मुद्दे पर क्या सरकार ने जितने जरूरी कठोर कदम उठाने थे, उठाए कि नहीं?
हां
नहीं
पता नहीं
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.