ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

प्रमुख समाचार

भारत ने दुनिया का सबसे बड़ा मुफ्त टीकाकरण अभियान चलाया - बिरला

आकाश श्रीवास्तव

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़ नेटवर्क

नई दिल्ली

लोक सभा अध्यक्ष, ओम बिरला ने आज विश्व कोविड एवं क्रिटिकल केयर सम्मेलन को ऑनलाइन माध्यम से सम्बोधित किया ।  इस सम्मेलन में ‘कोविड महामारी तथा इसमें क्रिटिकल केयर की भूमिका’ विषय पर चर्चा की गई। इस कार्यक्रम में पूरे विश्व से डॉक्टरोंऔर वैज्ञानिकों ने हिस्सा लिया तथा कोरोना से संबंधित विषयों पर व्यापक चर्चा की। इस अवसर पर अपने विचार व्यक्त करते हुए बिरला ने कहा कि यह क्षण भारत के लिए बहुत गौरवशाली है क्योंकि भारत ने दुनिया का सबसे बड़ा मुफ्त टीकाकरण अभियान चलाया और 100 करोड से अधिक वैक्सीन डोज़ लगाकर पूरे विश्व में अभूतपूर्व कीर्तिमान स्थापित किया है।
 

उन्होंने आगे कहा कि पूरे विश्व में कोरोना के खिलाफ यह बहुत बड़ी उपलब्धि है कि वैक्सीन के माध्यम से देश की जनता को कोरोना के विरुद्ध कवच दिया गया है। कोविड 19 की चुनौती के विषय में बिरला ने कहा कि इस महामारी ने यह दिखाया है कि कोई भी राष्ट्र कितना भी संपन्न या  शक्तिशाली क्यों न हो लेकिन ऐसी वैश्विक महामारी का मुकाबला अकेले नहीं किया जा सकता।

उन्होंने यह भी कहा कि पूरा विश्व एक है और मानवता के लिए सभी को सामूहिक प्रयास करने की आवश्यकता है। भारत के लोगों द्वारा कोरोना के विरुद्ध किए गए संघर्ष का उल्लेख करते हुए बिरला ने कहा कि कोरोना की पहली लहर में देश के पास न तो आवश्यक इंफ्रास्ट्रक्चर था, न दवाइयां थी, न पी पी ई किट थे, लेकिन उसके बाद भी देश ने इतने कम समय में सभी के प्रयासों से इन संसाधनों को जुटाया। उन्होंने आगे कहा कि भारत के डॉक्टर्स, पैरामेडिकल स्टाफ एवं फ्रंटलाइन वर्कर्स ने कोरोना के योद्धा के रूप में काम किया तथा संसाधन कम होने के बाद भी अपनी जान की बाजी लगाकर पहली वेव का मुकाबला किया।
 
कोरोना की दूसरी लहर के विषय में बिरला ने कहा कि दूसरी लहर भारत के लिए बहुत बड़ा आक्रमण था; बढ़ते मरीज, ऑक्सीजन की कमी; स्वास्थ्य ढांचे पर अत्यधिक दबाव आदि ने देश के मनोबल की परीक्षा ली । लेकिन उसके बाद भी दूसरी वेव का हमने डटकर मुकाबला किया। उन्होंने दूसरी लहर में बिछड़े लोगों को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि जिस प्रकार से कोरोना योद्धाओं ने सामर्थ्य के साथ काम किया और मानव सेवा की उत्कृष्ट संस्कृति का परिचय दिया, वह प्रशंसनीय है।

बिरला ने आगे कहा कि भारत में मानव संसाधन की ताकत से और संस्कार और समर्पण के भाव के बल से दूसरी लहर से मुकाबला किया गया  और विशेष रूप से डॉक्टरों और वैज्ञानिकों ने सामूहिक रूप से शोध और अनुसंधान के बल पर इस वैश्विक महामारी के विरुद्ध लड़ाई लड़ी।








जरा ठहरें...
देश ने संविधान निर्माता बाबा साहेब को किया याद अर्पित किए गए श्रद्धासुमन
कृषि उड़ान-दो में देश के ज्यादातर दूरदराज के इलाके शामिल
नई दिल्ली रेलवे स्टेशन को विश्वस्तरीय पांच सितारा होटल जैसे बनाने का काम जल्द शुरू होगा
उत्तर प्रदेश के पूर्वांचल एक्सप्रेस वे मे लगा 48 हजार टन से ज्यादा स्टील
परिवहन मंत्री गड़करी ने 1,250 करोड़ रुपये की नई सड़क परियोजनाओं को दी मंजूरी
वॉपकोस ने चलाया स्वच्छता अभियान, लोगों ने बढ़चढ़ कर लिया हिस्सा
बिजली संकट नहीं, कोयले की पर्याप्त भंडार - केंद्र सरकार
जम्मू – कश्मीर में सुरंग नहीं देश की मजबूत रीढ़ तैयार कर रही है सरकार
दिल्ली से लखनऊ चलने वाली तेजस को नहीं मिल रहे यात्री, अनिश्चितकाल के लिए बंद
विज्ञान, तकनीकि और हौसले की मिसाल है दुनिया का यह सबसे ऊंचा रेलवे पुल
ख़ास: मोदी सरकार राष्ट्रपति भवन से लेकर इंडियागेट तक कायाकल्प करने की तैयारी पूरी की!
मुफ्त गैस कनेक्शन के पीछे सरकार का खेल, 8 करोड़ को दो 80 करोड़ से लो!
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
चीन मुद्दे पर क्या सरकार ने जितने जरूरी कठोर कदम उठाने थे, उठाए कि नहीं?
हां
नहीं
पता नहीं
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.