ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

प्रमुख समाचार

जम्मू-कश्मीर की जोजिला परियोजना में 5 किमी लंबी सुरंग का महत्वपूर्ण कार्य पूरा!
केद्रीय परिवहन मंत्रालय और भारत सरकार का सबसे महत्वपूर्ण परियोजना है जोजिला सुरंग!

आकाश श्रीवास्तव

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़ नेटवर्क

17 जनवरी 2022

इंफ्रास्ट्रक्चर प्रमुख, मेघा इंजीनियरिंग एंड इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड (एमईआईएल) ने 14 महीने के रिकॉर्ड समय में 18 किलोमीटर लंबी ऑल वेदर जोजिला टनल के हिस्से के रूप में 5 किमी लंबी सुरंग के काम को पूरा करने का एक मील का पत्थर हासिल किया है। एमईआईएल द्वारा निष्पादित राष्ट्रीय राजमार्ग और बुनियादी ढांचा विकास निगम लिमिटेड (एनएचआईडीसीएल) की परियोजना की परिकल्पना श्रीनगर और लद्दाख के बीच पूरे वर्ष बिना किसी रुकावट के कनेक्टिविटी सुनिश्चित करने के लिए की गई है। 

ज़ोजिला टनल - नीलग्रार 1, 2 और ज़ोजिला मुख्य सुरंग - को समुद्र तल से 3,528 मीटर की ऊँचाई पर बर्फबारी, और बर्फ़ीला तूफ़ान जैसी प्रतिकूल मौसम की स्थिति के बावजूद तेजी से निष्पादित किया जा रहा है। एशिया की सबसे लंबी द्विदिश सुरंग, जोजिला परियोजना, सामरिक कारणों से भी भारत में एक चुनौतीपूर्ण विकास परियोजना है। जोजिला टनल के प्रोजेक्ट हेड हरपाल सिंह ने कहा, "हमारी एमईआईएल टीम ने कठिन परिस्थितियों में समर्पण और कड़ी मेहनत के साथ इस परियोजना को अंजाम दिया है।" वर्तमान सर्दियों में जम्मू और कश्मीर के इतिहास में अब तक की सबसे अधिक बर्फबारी हुई है, जिसमें तापमान -30 डिग्री सेल्सियस (माइनस 30 डिग्री) तक गिर गया है।

इस परियोजना में तीन सुरंग, चार पुल, बर्फ संरक्षण संरचनाएं, पुलिया, कैच डैम, डिफ्लेक्टर डैम, कट एंड कवर टनल और ऐसे कई इंजीनियरिंग करतब शामिल हैं। केंद्रीय सड़क और परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने अपनी पिछली यात्रा के दौरान परियोजना को तेज गति से क्रियान्वित करने में एमईआईएल के प्रयासों की सराहना की थी। मंत्री ने कहा था कि इस परियोजना से जम्मू-कश्मीर और लद्दाख की सामाजिक-आर्थिक स्थिति, परिवहन और पर्यटन में सुधार होगा।

ज़ोजिला सुरंग परियोजना के बारे में
MEIL, भारत की एक प्रमुख अवसंरचना कंपनी, को 01 अक्टूबर, 2020 को कश्मीर घाटी को लद्दाख से जोड़ने वाली ऑल-वेदर कनेक्टिविटी प्रोजेक्ट (ZOJILA PROJECT) से सम्मानित किया गया था। परियोजना की कुल लंबाई 32 किलोमीटर है और इसे दो भागों में विभाजित किया गया है। परियोजना के 18 किमी के भाग I में सोनमर्ग और तलताल को जोड़ता है, जिसमें प्रमुख पुल और जुड़वां सुरंग हैं। टनल टी1 में दो ट्यूब लगाने की योजना है।

एमईआईएल ने मई 2021 में एक्सेस रोड के निर्माण के बाद परियोजना का काम शुरू कर दिया है। हिमालय के माध्यम से सुरंग बनाना हमेशा एक कठिन काम होता है, लेकिन एमईआईएल ने एक विशिष्ट समय सारिणी के भीतर सुरक्षा, गुणवत्ता और गति के उच्चतम मानकों के साथ दोनों सुरंगों को उकेरा है। 13.3 किलोमीटर लंबी जोजिला मेन टनल का काम भी जोरों पर है। MEIL ने लद्दाख से 600 मीटर आगे और कश्मीर की तरफ से 300 मीटर एडवांस हासिल किया है। परियोजना का समापन (सितंबर 2026) ट्रैक पर और समय पर है।

एमईआईएल के बारे में: मेघा इंजीनियरिंग एंड इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड (एमईआईएल) एक प्रमुख बहु-क्षेत्रीय वैश्विक कंपनी है जिसका मुख्यालय हैदराबाद, भारत में है। कंपनी की स्थापना 1989 में हुई थी। इसने पिछले तीन दशकों में 60 देशों में अपनी पहचान बनाई है। यह सिंचाई, तेल और गैस, परिवहन, बिजली, इलेक्ट्रिक वाहन, रक्षा और विनिर्माण क्षेत्रों में काम करता है। इन्फ्रास्ट्रक्चर दिग्गज ने तेलंगाना में दुनिया की सबसे बड़ी लिफ्ट सिंचाई परियोजना कालेश्वरम को पूरा करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। इसने अपने असाधारण कौशल और क्षमता के साथ विविध इंजीनियरिंग परियोजनाओं को भी क्रियान्वित किया।







जरा ठहरें...
देश को मिली 5वीं वंदे भारत ट्रेन, प्रधानमंत्री ने कर्नाटक में की शुरूआत
श्री जगन्नाथ यात्रा के लिए चलायी जाएगी भारत गौरव पर्यटक ट्रेन
खडगे बने कांगेस अध्यक्ष लेकिन सफर चुनौतियों से भरा
2 अक्टूबर से 31 दिसंबर तक अनुसूचित जातियों की होगी बकाया भर्ती - सापला
रेलवे द्वारा दी जा रही व्रत की थाली आम आदमी की पहुंच से दूर
कांग्रेस के गुलाम अब हो गए कांग्रेस से आजाद
IRCTC इस तरह यात्रियों से हजारों करोड़ कमाने की बना रही है योजना
सरकार का अगले डेढ़ साल में 10 लाख नौकरी देने की घोषणा
सामाजिक न्याय मंत्रालय गरीब अनुसूचित पिछडे वर्ग के कल्याण के लिए समर्पित - डॉ वीरेंद्र कुमार
मैने आठ साल से ऐसा कोई काम नहीं किया जिससे देश का सिर शर्म से झुके - प्रधानमंत्री
केंद्र ने गेहूं निर्यात पर लगाए प्रतिबंध, म.प्र. के 5 हजार ट्रक बंदरगाहों पर रुके
गड़करी ने किया एक साथ 33 राष्ट्रीय राजमार्गों का शुभारंभ
14 हवाईअड्डे अब यात्रियों की सुविधा के लिए एम्बुलिफ्ट से सुसज्जित
रेलवे ने मुंबई के लगभग 65 लाख से ज्यादा रेल यात्रियों की दुश्वारियों को दूर किया
आदिवासी समुदाय के लोगों के समग्र विकास के प्रति सरकार वचनवद्ध - अर्जुन मुंडा
कहानी देश की उस डाकखाने की जहां से देश मे डाक पिनकोड की शुरूआत हुई
नई दिल्ली रेलवे स्टेशन को विश्वस्तरीय पांच सितारा होटल जैसे बनाने का काम जल्द शुरू होगा
उत्तर प्रदेश के पूर्वांचल एक्सप्रेस वे मे लगा 48 हजार टन से ज्यादा स्टील
परिवहन मंत्री गड़करी ने 1,250 करोड़ रुपये की नई सड़क परियोजनाओं को दी मंजूरी
वॉपकोस ने चलाया स्वच्छता अभियान, लोगों ने बढ़चढ़ कर लिया हिस्सा
भारत ने दुनिया का सबसे बड़ा मुफ्त टीकाकरण अभियान चलाया - बिरला
जम्मू – कश्मीर में सुरंग नहीं देश की मजबूत रीढ़ तैयार कर रही है सरकार
दिल्ली से लखनऊ चलने वाली तेजस को नहीं मिल रहे यात्री, अनिश्चितकाल के लिए बंद
विज्ञान, तकनीकि और हौसले की मिसाल है दुनिया का यह सबसे ऊंचा रेलवे पुल
ख़ास: मोदी सरकार राष्ट्रपति भवन से लेकर इंडियागेट तक कायाकल्प करने की तैयारी पूरी की!
मुफ्त गैस कनेक्शन के पीछे सरकार का खेल, 8 करोड़ को दो 80 करोड़ से लो!
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
चीन मुद्दे पर क्या सरकार ने जितने जरूरी कठोर कदम उठाने थे, उठाए कि नहीं?
हां
नहीं
पता नहीं
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.