ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

क्या आप जानते हैं

२०५ साल के बाबा, १०५ साल से नहीं खाया एक अन्न भी!
किसी चमत्कार से कम नहीं!

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़

७ जनवरी २०११

उत्तर प्रदेश के श्रावस्ती में एक ऐसे बाबा हैं जिनकी उम्र 205 साल बतायी जा रही है और 105 साल से अन्न नहीं खाए हैं। इस तरह से इस बाबा ने अपने जीवन का 205 बंसत देख चुके हैं। अब उनका नाम गिनीज बुक ऑफ रिकार्ड में दर्ज होने जा रहा है। भारत-नेपाल के उत्तरप्रदेश की सीमा पर स्थित श्रावस्ती जिले के एक मंदिर में रह रहे बाबा का नाम स्वामी दयाल जी महाराज है। इस मंदिर का नाम जगपति नाथ मंदिर है। जिसके वे पुजारी हैं। बुजुर्ग बाबा आजादी की दोनों लड़ाई देख चुके हैं और गांधी-नेहरू के साथ जेल भी जा चुके हैं। सबसे ख़ास बात तो यह है कि बाबा को किसी के सहारे की जरूरत नहीं पड़ती है। खुद सामान्य रूप से चल फिर लेते हैं।


बाबा सिर्फ फल खाते हैं और पानी पीते हैं। पिछले करीब 100 साल से उन्होंने कोई अन्न नहीं खाया है। बाबा रोजाना सुबह साढ़े तीन बजे उठ जाते हैं योगा और पूजा पाठ करते हैं। इस बारे में बहराइच के सबसे बूढ़े व्यक्ति 102 साल के किशोरी लाल का कहना है कि बचपन में जब उनकी उम्र दस साल की थी तो उनके घरवालों ने बाबा की उम्र उस समय 95 साल से ऊपर बताई थी। बचपन से अब तक उन्होंने बाबा को जस का तस देखते आ रहे हैं। तब भी वे उतने ही एक्टिव थे, जितने आज हैं। रोजाना पूजन-योग साधना और मंत्रोच्चारण का काम बाबा नियमित रूप से कर रहे हैं।
इस बात को आस-पास के रहने वाले लोग भी मानते हैं कि बाबा की उम्र 205 साल की है।क्योंकि उन लोगों के अनुसार उनके पूर्वजों ने भी बाबा के बारे में कभी जिक्र किया करते थे।नेपाल से उनके दर्शन करने आये नेपाली सांसद दिनेश चंद्र यादव ने दावा किया कि उनके चार पुरखे बाबा जी के परम भक्त रहे। यादव के अनुसार उनके पिता की समाधि राप्ती नदी तट पर स्थित बाबा के आश्रम पर आज भी देखी जा सकती है। वे महीने में एक-दो बार बाबा के दर्शन करने सालों से आ रहे हैं। उन्होंने वर्ल्ड गिनीज बुक में भी स्वामी दयाल महाराज की लंबी उम्र की जानकारी दे दी है।
लोगों का कहना है कि यदि किसी को बाबा की इतनी विशाल उम्र का विश्वास न हो तो उनके डीएनए से ही उम्र परखी जा सकती है। श्रावस्ती के उत्तर दिशा की ओर बसे जमुनहा गांव के पुराने लोग इसके गवाह हैं जहां पर मंदिर स्थित है। काशी के जूना अखाड़ा से जुड़े बाबा नेपाल के बागेश्वरी हनुमान मंदिर के आज भी महंत हैं जिन्हें पांच एकड़ जमीन के साथ नेपाल सरकार अलाउंस दे रही है। लेकिन उन्हें भारत ही प्यारा लगता है। बाबा का जन्म 1805 में नेपाल में काठमांडू में हुआ था। कहा जा रहा है कि भगवान दत्तात्रेय के उपासक बाबा स्वामी दयाल महाराज का जन्म नेपाल केसरकारी रेकॉर्ड में दर्ज है। नेपाली सांसद यादव ने बताया कि बाबा का जन्मकाठमांडू में 20 मार्च 1805 में हुआ था। आजादी की लड़ाई से पहले ही बाबा भारत आ गए थे।
उनकी मुलाकात लाला लाजपत राय, सुभाषचंद्रबोस, महात्मा गांधी, जवाहरलाल नेहरू, सरदार बल्लभ भाई पटेल, लालबहादुर शास्त्री एवं इंदिरा गांधी जैसी हस्तियों से होती रही।कहा जा रहा है कि बाबा 1905 के बाद से भोजन नहीं कर रहे हैं। जब वे गांधी-नेहरू के साथ जेल में बंद थे तो अंग्रेज उन्हें लाल पगड़ी कहकरपुकारते थे। यूपी में रह रहे बाबा आज भी सिर पर लाल पगड़ी पहनते हैं। नेपाल में राजपरिवार से लेकर वहां की सरकार और लोग उनका आज भी बेहद सम्मान करतें हैं। वन्य जीव प्रेमी बाबा ने राप्ती किनारे बने एक मंदिर में ही अपने आपको सीमित कर लिया है। नोट - 7 अक्टूबर 2010 को लिखा गया था।





जरा ठहरें...
चीन के खिलाफ व्यापारियों का फूटा गुस्सा, देश में जली चीनी सामानों की होलिका
देश की विभूतियों को राष्ट्रपति पद्म पुरस्कारों से किया सम्मानित
118 सालों में दिल्ली का मौसम मार्च माह में सबसे ज्यादा ठंड रहा
ये पार्टी लोकसभा चुनाव 2019 में 283 सीटों पर महिला उम्मीदवार उतारेगी
“सरकार की मंशा अच्छी, पर दिव्यांग कल्याण के लिए ठोस कदम उठाएं”- अमित कुमार
मंगला एक्सप्रेस में गंदे पानी से बनाया जाता है सूप और अन्य चीज
सरकार ने अनाजों के उत्पादन के आंकडे जारी किए!
दिल्ली में ४० प्रतिशत लोगों का मानना वह सुरक्षित नहीं
रेलवे ने मेल और एक्सप्रेस रैक्स के उन्नयन के लिए ’प्रोजेक्ट उत्कृष्ट’ शुरू किया
रंजन गोगोई बने देश के नए मुख्य न्यायाधीश
मोदी कैबिनेट का बड़ा फैसला तीन तलाक पर अध्यादेश जारी
बिना इंजन की ट्रेन-18 जल्द मिलेगी लोगों को सफर करने के लिए!
वैज्ञानिकों ने माना रामसेतु मानव निर्मित है
30 किलो से ज्यादा वजन के कुत्ते को घोड़ा मानता है रेलवे!
मानव मांस का शौकीन था ब्रिटिश राजघराना
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.