ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

प्रमुख समाचार

IRCTC इस तरह यात्रियों से हजारों करोड़ कमाने की बना रही है योजना

आकाश श्रीवास्तव

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़ नेटवर्क

नई दिल्ली

आईआरसीटी यानि इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन अपने पैसेंजरों का डेटा बेचकर कमाई करने का योजना बना रही है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, आईआरसीटीसी को डिजिटल मोनेटाइजेशन से 1000 करोड़ रुपए की कमाई होगी। आईआरसीटीसी ने अपने इस प्लान के लिए टेंडर भी जारी कर दिया है। अब इस टेंडर को लेकर यूजर्स के मन में प्राइवेसी और सेफ्टी से जुड़े कई सवाल उठाए जा रहे हैं। आईआरसीटीसी के इस प्लान को लेकर इंटरनेट फ्रीडम फाउंडेशन ने जानकारी शेयर की है। इस टेंडर में बताया गया है कि आईआरसीटीसी एक कंसलटेंट अपॉइंट करेगी। यह कंसलटेंट उन्हें यूजर्स के डेटा को मोनेटाइज करने के तरीकों पर सुक्षाव देगा।

आईआरसीटी ने टेंडर में कहा है कि यूरोपीय जनरल डेटा प्रोटेक्शन रेगुलेशन और पर्सनल डेटा प्रोटेक्शन बिल 2018 जैसे नियमों का गहन एनालिसिस कंसलटेंट करेंगे, ताकि यह तय हो सके कि मॉनेटाइजेशन का प्रस्ताव सही दिशा में और सुप्रीम कोर्ट के डेटा प्राइवेसी को लेकर दी गई गाइडलाइंस के मुताबिक हो। आईआरसीटी रेलवे टिकटों की ऑनलाइन बुकिंग के लिए भारतीय रेलवे की अधिकृत एकमात्र यूनिट है। इतना ही नहीं आईआरसीटीसी एकमात्र यूनिट है, जो केटरिंग पॉलिसी 2017 के तहत रेलवे स्टेशनों पर केटरिंग सर्विसेज को मैनेज करने के लिए अधिकृत है।

कंपनी के आंकड़ों के अनुसार, आईआरसीटीसी के जरिए वित्तीय वर्ष 2021-22 में लगभग 430 मिलियन (43 करोड़) टिकटों की बुकिंग हुई है। साथ ही करीब 6.3 मिलियन (63 लाख) डेली लॉगिन हुए हैं और इसकी ऑनलाइन सेवाओं के 80 मिलियन (8 करोड़) से ज्यादा यूजर्स हैं। वहीं 46% से ज्यादा टिकट बुकिंग मोबाइल ऐप के जरिए की जाती हैं। आईआरसीटीसी के इस प्लान के सामने आने के बाद इसके शेयर में आज (19 अगस्त) सुबह करीब 4% की तेजी देखने को मिली। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, भारतीय रेलवे की ऑनलाइन टिकट बुकिंग ब्रांच डिजिटल मोनेटाइजेशन के जरिए 1000 करोड़ रुपए का रेवेन्यू बढ़ाने का प्लान बना रही है। कंपनी का कहना है कि IRCTC में बड़ी संख्या में डिजिटल डेटा है, जो इसके लिए मोनेटाइजेशन के कई अवसर खोलता है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, टेंडर के तहत नियमों के अंतर्गत कंपनी की वेबसाइट के यूजर्स की पर्सनल जानकारी किसी के साथ शेयर नहीं की जाएंगी।

आईआरसीटीसी के पास यूजर्स का 100TB से ज्यादा डेटा है। जिसमें यूजर्स के नाम, नंबर से लेकर एड्रेस जैसी तमाम डिटेल्स शामिल हैं। ऐसे में सवाल उठ रहे हैं कि आईआरसीटीसी और सरकार यूजर्स की पर्सनल डिटेल्स बेचकर पैसा कमाने की प्लानिंग कर रही है। कंपनी इस डेटा पर कंट्रोल कभी नहीं छोड़ना चाहेगी। IRCTC के पास मौजूद 100TB डेटा कभी बेचा भी नहीं जाएगा। क्योंकि इसे बेचकर IRCTC सिर्फ एक बार ही कमाई कर पाएगी। हालांकि, कंपनी का प्लान है कि डेटा का इस्तेमाल कर समय-समय पर पैसा कमाया जा सके।

अभी ऐसा होता है कि यूजर किसी ट्रेन में ट्रैवल कर रहा है और खाना ऑर्डर करने के लिए ई-कैटरिंग का इस्तेमाल करता है। इस नए प्लान के आने के बाद हो सकता है कि जब यूजर ट्रेन में ट्रैवल करे तो उसके पास कुछ ई-कैटरिंग कंपनियों के नोटिफिकेशन आने शुरू हो जाएं, जहां से वो अपने लिए खाना ऑर्डर कर सकता है।

दूसरा यह भी हो सकता है कि अभी यूजर्स आईआरसीटी का इस्तेमाल ट्रेन टिकट बुकिंग के लिए करता है और इसके बाद अपने डेस्टिनेशन स्टेशन से घर जाने के लिए कैब बुक करते हैं? इस हिसाब से आगे ऐसा हो सकता है कि यूजर्स को कुछ समय बाद कैब के सजेशन या कॉल्स स्टेशन पर पहुंचते ही आने लगेंगे। आईआरसीटी इस डेटा को किस तरह से इस्तेमाल करेगी इस बात की पुष्टी अभी नहीं हुई है। कंपनी का कहना है कि वह यूजर्स के एक्सपीरियंस को बेहतर करना चाहती है। साथ ही थर्ड पार्टी से डेटा शेयर करके पैसे भी कमाने का सोच रही है। आईआरसीटी के इस प्लान पर इंटरनेट फ्रीडम फाउंडेशन और कई लोग यूजर्स की प्राइवेसी को लेकर चिंतित हैं। 19 अगस्त 2022 



संग्रहित तस्वीर।




जरा ठहरें...
देश को मिली 5वीं वंदे भारत ट्रेन, प्रधानमंत्री ने कर्नाटक में की शुरूआत
श्री जगन्नाथ यात्रा के लिए चलायी जाएगी भारत गौरव पर्यटक ट्रेन
खडगे बने कांगेस अध्यक्ष लेकिन सफर चुनौतियों से भरा
2 अक्टूबर से 31 दिसंबर तक अनुसूचित जातियों की होगी बकाया भर्ती - सापला
रेलवे द्वारा दी जा रही व्रत की थाली आम आदमी की पहुंच से दूर
कांग्रेस के गुलाम अब हो गए कांग्रेस से आजाद
सरकार का अगले डेढ़ साल में 10 लाख नौकरी देने की घोषणा
सामाजिक न्याय मंत्रालय गरीब अनुसूचित पिछडे वर्ग के कल्याण के लिए समर्पित - डॉ वीरेंद्र कुमार
मैने आठ साल से ऐसा कोई काम नहीं किया जिससे देश का सिर शर्म से झुके - प्रधानमंत्री
केंद्र ने गेहूं निर्यात पर लगाए प्रतिबंध, म.प्र. के 5 हजार ट्रक बंदरगाहों पर रुके
गड़करी ने किया एक साथ 33 राष्ट्रीय राजमार्गों का शुभारंभ
14 हवाईअड्डे अब यात्रियों की सुविधा के लिए एम्बुलिफ्ट से सुसज्जित
रेलवे ने मुंबई के लगभग 65 लाख से ज्यादा रेल यात्रियों की दुश्वारियों को दूर किया
आदिवासी समुदाय के लोगों के समग्र विकास के प्रति सरकार वचनवद्ध - अर्जुन मुंडा
कहानी देश की उस डाकखाने की जहां से देश मे डाक पिनकोड की शुरूआत हुई
जम्मू-कश्मीर की जोजिला परियोजना में 5 किमी लंबी सुरंग का महत्वपूर्ण कार्य पूरा!
नई दिल्ली रेलवे स्टेशन को विश्वस्तरीय पांच सितारा होटल जैसे बनाने का काम जल्द शुरू होगा
उत्तर प्रदेश के पूर्वांचल एक्सप्रेस वे मे लगा 48 हजार टन से ज्यादा स्टील
परिवहन मंत्री गड़करी ने 1,250 करोड़ रुपये की नई सड़क परियोजनाओं को दी मंजूरी
वॉपकोस ने चलाया स्वच्छता अभियान, लोगों ने बढ़चढ़ कर लिया हिस्सा
भारत ने दुनिया का सबसे बड़ा मुफ्त टीकाकरण अभियान चलाया - बिरला
जम्मू – कश्मीर में सुरंग नहीं देश की मजबूत रीढ़ तैयार कर रही है सरकार
दिल्ली से लखनऊ चलने वाली तेजस को नहीं मिल रहे यात्री, अनिश्चितकाल के लिए बंद
विज्ञान, तकनीकि और हौसले की मिसाल है दुनिया का यह सबसे ऊंचा रेलवे पुल
ख़ास: मोदी सरकार राष्ट्रपति भवन से लेकर इंडियागेट तक कायाकल्प करने की तैयारी पूरी की!
मुफ्त गैस कनेक्शन के पीछे सरकार का खेल, 8 करोड़ को दो 80 करोड़ से लो!
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
चीन मुद्दे पर क्या सरकार ने जितने जरूरी कठोर कदम उठाने थे, उठाए कि नहीं?
हां
नहीं
पता नहीं
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.