ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

प्रमुख समाचार

भारतीय रेलवे का किराया हवाई जहाज के किराए के बराबर पहुंचा!
सुविधा एक्सप्रेस के नाम पर मजबूर यात्रियों से वसूला जा रहा है मोटा किराया!

राम कुमार यादव

पुणे महाराष्ट्र, 7 दिसंबर 2023

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़ नेटवर्क

भारतीय रेलवे द्वारा चलायी जा रही है सुविधा रेलगाड़ियों का किराया हवाई जहाज के बराबर जहां है वहीं सामान्य चलने वाली रेलगाड़ियों के किराए से लगभग तीन से चार गुना महंगा है। नीचे हमने आईआरसीटी की वेबसाइट से ली गयी स्क्रीन शॉट की कुछ तस्वीरें दी हैं जिससे सारा मामला अपने आप स्पष्ट हो जाता है। एक समय था रेलवे में जब किराया 10 रूपए भी बढ़ता था तो वे समाचार माध्यमों की सुर्खियां होती थीं और समाचार माध्यमों में उसकी चर्चाएं होती थीं। लेकिन अब यह सब खत्म हो चुका है। अब रेलवे ने कब कितना और कैसे किराया बढ़ाया किसी को कानों कान तक कोई खबर नहीं होती है। आम आदमी जब टिकट लेने जाता है तब उसे पता चलता है कि उसकी जेब ढीली हो गयी है।
फिलहाल भारतीय रेलवे त्यौहारों के मौसम और गर्मी के दिनों में विशेष रेलगाड़ियां चलाती हैं। जिसके माध्यम से आम रेल यात्रियों को झुनझना पकड़ाकर लूटा जाता है। बात सिर्फ यहां सुविधा रेलगाड़ियों की हो रही है इसी के जरिए रेलवे के पूरे मंसूबे को अच्छी तरह से समझा जा सकता है। खबर में लगायी गयी आईआरसीटी की स्क्रीन शॉट को ध्यान से देखिए खुद ब खुद सारी चीजें स्पष्ट हो जाएंगी।

हम बता दें कि भारतीय रेलवे ने 2014 में सबसे व्यस्त रेल मार्गों पर सुविधा एक्सप्रेस श्रृंखला की ट्रेनें शुरू की थी। इन ट्रेनों के लिए कन्फर्म और रिजर्वेशन अगेंस्ट कैंसिलेशन (आरएसी) टिकट जारी किए जाते हैं। आईआरसीटीसी द्वारा प्रस्तावित मानक किराए के बजाय गतिशील मूल्य निर्धारण के कारण सुविधा ट्रेनों के टिकट अधिक महंगे होते हैं।
गतिशील मूल्य निर्धारण एयरलाइन टिकट मूल्य निर्धारण के समान है जहां यात्रा की लागत मांग के अनुसार बदलती है। भारतीय रेलवे में मूल्य निर्धारण की इस प्रणाली का उपयोग करने वाली सुविधा एक्सप्रेस ट्रेनें अपनी तरह की पहली थीं। कन्फर्म और आरएसी यात्री आवास के अलावा, प्रतीक्षा सूची टिकट भी 14/01/2016 से बुक किए जा सकते हैं। सुविधा ट्रेनों के लिए अधिकतम अग्रिम आरक्षण अवधि 120 दिन है।

हम बता दें कि इन ट्रेनों पर कोई रियायत लागू नहीं होती। सभी यात्रियों से उनकी उम्र की परवाह किए बिना पूरा वयस्क किराया लिया जाता है। साथ ही इन ट्रेनों में मुफ्त पास/ मानार्थ पास/ वारंट/ रियायती वाउचर आदि की अनुमति नहीं होती है।कन्फर्म और आरएसी यात्रियों से डायनेमिक किराया लिया जाता है।

प्रतीक्षासूची वाले टिकट का शुल्क उस श्रेणी के लिए बुक किए गए अंतिम टिकट के मूल्य पर लिया जाता है। ई-टिकटिंग के अलावा, सुविधा ट्रेनों के टिकट पीआरएस काउंटरों के माध्यम से भी बुक किए जा सकते हैं। इसमें संशोधन/डुप्लीकेट टिकट/क्लस्टर बुकिंग/बीपीटी की अनुमति नहीं दी जाती है। इसमें केवल केवल सामान्य कोटा बुकिंग लागू होगी। 
उन मजबूर रेलयात्रियों के लिए सुविधा एक्सप्रेस है जिन्हें आपात और अत्यंत आवश्यक होने पर इन तरह की रेलगाड़ियों का सहारा लेना पड़ता।और रेलवे उन मजबूर रेलयात्रियों का पूरा दोहन करने में कोई कसर नहीं छोड़ती है। इस पूरी खबर का आधार आईआरसीटी पर बेचे जा रहे रेल टिकट की हवाई यात्रा और अन्य साधारण रेल गाड़ियों की तुलनात्मक कीमतों के आधार पर लिखा गया है। सवाल यह भी है कि यदि पटना से मुंबई का किराया लगभग 10 हजार है तो आम रेल यात्रियों को सुविधा एक्सप्रेस रेल गाड़ियों में सुविधा मिल रही है या उन्हें लूटा जा रहा है।








जरा ठहरें...
डाक कर्मयोगी परियोजना की सफल यात्रा पर विशेष कार्यक्रम का आयोजन
ऑल इंडिया रेलवे मेन्स फेडरेशन के शताब्दी वर्ष के अवसर पर डाक टिकट जारी
उत्तराखंड सरकार समान नागरिक संहिता लागू करने वाला देश का पहला राज्य बना
राम लला विराजमान, प्रधानमंत्री ने कहा न्यायालय ने न्याय की लाज रख ली
भारत पर टिप्पणी करना मालदीप को पड़ी भारी,
केजरीवाल पर मंडराया गिरफ्तारी का बादल
एशिया के सबसे बड़े ट्र्स्ट कायस्थ पाठशाला, प्रयागराज का चुनाव 25 दिसंबर को
“मोदी सरकार ने 3 सौ का सिलिंडर 9 साल में 12 सौ में बेचा”
प्रधानमंत्री का सपना चकनाचूर? अधर में उत्तराखंड की चार धाम रेल परियोजना!
सरकार पुरानी पेंशन योजना नहीं लागू कि तो देश भर में प्रदर्शन होगा तेज - कामरेड शिव गोपाल मिश्रा
अब रेलवे स्टेशनों पर किफायती दरों पर उपलब्ध कराया जाएगा किफायती खाना
वंदेभारत से क्या भारतीय रेलवे की आम छवि बदल जाएगी?
IRCTC इस तरह यात्रियों से हजारों करोड़ कमाने की बना रही है योजना
कहानी देश की उस डाकखाने की जहां से देश मे डाक पिनकोड की शुरूआत हुई
नई दिल्ली रेलवे स्टेशन को विश्वस्तरीय पांच सितारा होटल जैसे बनाने का काम जल्द शुरू होगा
वॉपकोस ने चलाया स्वच्छता अभियान, लोगों ने बढ़चढ़ कर लिया हिस्सा
जम्मू – कश्मीर में सुरंग नहीं देश की मजबूत रीढ़ तैयार कर रही है सरकार
दिल्ली से लखनऊ चलने वाली तेजस को नहीं मिल रहे यात्री, अनिश्चितकाल के लिए बंद
विज्ञान, तकनीकि और हौसले की मिसाल है दुनिया का यह सबसे ऊंचा रेलवे पुल
मुफ्त गैस कनेक्शन के पीछे सरकार का खेल, 8 करोड़ को दो 80 करोड़ से लो!
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
चीन मुद्दे पर क्या सरकार ने जितने जरूरी कठोर कदम उठाने थे, उठाए कि नहीं?
हां
नहीं
पता नहीं
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.
Design & Developed By : AP Itechnosoft Systems Pvt. Ltd.