ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

प्रमुख समाचार

नीतिश कुमार का पलटने का लंबा इतिहास रहा है

आकाश श्रीवास्तव

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़ नेटवर्क

नई दिल्ली, 28 जनवरी 2024

बिहार के मुख्यमंत्री नीतिश कुमार को यूं ही पल्टीमार नहीं कहा जाता है। राजद का साथ छोडकर एक बार फिर वे एनडीए के पाले में आ चुके हैं। उनके पलटने का एक लंबा इतिहास रहा है। आइए बताते हैं कि कब कब पल्टीमारा नीतिश कुमार ने। नीतीश कुमार ने पहली बार 1994 में जनता दल से अलग होकर समता पार्टी बनाई थी। उस समय जॉर्ज फर्नानडीज नीतीश कुमार के साथ थे। 90 के दशक में ही नीतीश कुमार पहली बार बीजेपी के साथ आए थे। नीतीश कुमार ने 2005 में पहली बार बीजेपी के समर्थन से सरकार बनाई थी। लगभग 8 साल के बाद नीतीश कुमार ने पहली बार 2013 में पाला बदला था। उस समय उन्होंने भगवा पार्टी के साथ जेडीयू के 17 साल लंबे राजनीतिक गठबंधन को खत्म करने का फैसला किया था। उस समय नीतीश ने पीएम के रूप में नरेंद्र मोदी की उम्मीदवारी का विरोध जताया था। नीतीश कुमार बीजेपी की तरफ से नरेंद्र मोदी को पीएम पद के उम्मीदवार के रूप में घोषित किए जाने से नाखुश थे। नीतीश कुमार ने 2014 का लोकसभा चुनाव अकेले लड़ा। इस चुनाव के बाद नीतीश कुमार को केवल दो सीट मिली। जबकि 2009 के चुनावों में जेडीयू को 18 सीटों पर जीत हासिल हुई थी।

2014 में, बीजेपी के प्रचंड बहुमत से चुनाव जीतने के बाद, कुमार ने जेडीयू की हार की जिम्मेदारी ली। उन्होंने सीएम पद से इस्तीफा दे दिया। इसके बाद उन्होंने जीतम राम मांझी को सीएम नियुक्त कर दिया। लालू यादव की राजद और कांग्रेस ने कुमार की जदयू का समर्थन किया और कुमार विधानसभा में बहुमत परीक्षण में सफल रहे। अंततः जदयू-कांग्रेस-राजद गठबंधन, महागठबंधन का गठन हुआ। गठबंधन ने कुमार को 2015 में राज्य चुनाव जीतने में मदद की। इससे लालू यादव के उत्तराधिकारी तेजस्वी यादव के लिए राह खुली। इसके बाद तेजस्वी यादव उप मुख्यमंत्री बने थे। इस चुनाव में राजद बड़े दल के रूप में थी।

गठबंधन में राजद के महत्व से असंतुष्ट कुमार 2016 में फिर से सुर्खियों में आये। उस समय नीतीश कुमार का झुकाव बीजेपी की नोटबंदी और जीएसटी संबंधी नीतियों की ओर दिखाई दिया। हालांकि कुमार के झुकाव का गठबंधन में शामिल दलों ने स्वागत नहीं किया। हालांकि, सीबीआई की लालू यादव और उनके रिश्तेदारों के खिलाफ भ्रष्टाचार के मामले दर्ज करने के बाद उन्हें गठबंधन में बढ़त हासिल करने का एक और मौका मिला। कुमार ने गठबंधन से संपर्क किया और तेजस्वी यादव का इस्तीफा मांगा। तेजस्वी का सीबीआई की चार्जशीट में भी था। हालांकि, लालू ने इनकार कर दिया। इसके बाद नीतीश कुमार ने 2017 में फिर से पलटी मारी और बीजेपी से हाथ मिला लिया। इसके बाद वह फिर से मुख्यमंत्री बने। विधानसभा में बहुमत सीटों के साथ, बीजेपी ने जेडीयू के साथ गठबंधन में बढ़त हासिल की। कुमार को चौथी बार सीएम चुना गया। उन्होंने बीजेपी की तरफ से चुने गए दो उपमुख्यमंत्रियों- तारकिशोर प्रसाद और रेनू देवी सहित 14 मंत्रियों की परिषद का नेतृत्व किया। यह देखते हुए कि भगवा पार्टी ने तब बहुमत सीटें हासिल की थीं।

गठबंधन के एक साल पूरे होने पर, नीतीश कुमार ने बिहार में दो डिप्टी सीएम की नियुक्ति पर असंतोष के बीच बीजेपी के राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर पर आपत्ति जताई थी। कई मतभेदों के बाद, कुमार ने अगस्त 2022 में बीजेपी से नाता तोड़ लिया। 9 अगस्त 2022 को नीतीश कुमार ने कहा था कि बीजेपी हमारा का अस्तित्व समाप्त करना चाहती है। बीजेपी हमारी पार्टी को खत्म करना चाहती है। इस बात के साथ उन्होंने एनडीए गठबंधन छोड़ा था। उस समय राजद ने उनका स्वागत किया। इसके बाद नीतीश कुमार ने फिर पलटी मारते हुए सीएम पद बरकरार रखा।

वर्तमान में, बिहार के 243 निर्वाचन क्षेत्रों में से, राजद के पास 79 सीटें हैं। वहीं, जदयू के पास 45 और भाजपा के पास 78 विधायक हैं। नीतीश कुमार अब बीजेपी के साथ गठबंधन करके सरकार बनाएंगे। इसके बाद फिर से सीएम बनेंगे। 2010 के बिहार चुनाव में जेडीयू को 115 सीट मिली थी। वहीं, 2015 में जेडीयू को 71 सीट मिली। इसके बाद 2020 में घटकर सिर्फ 43 सीटों तक सिमट गए। इससे साफ है कि विधानसभा में जेडीयू की ताकत कम हो रही है। ऐसे में अब यह देखना बाकी है कि 2024 के लोकसभा चुनाव के दौरान बिहार और कुमार के आसपास की राजनीति किस तरह करवट बदलती है।

बिहार में सीएम नीतीश कुमार ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। बिहार के सीएम के इस्तीफे के साथ ही राज्य में 9 अगस्त 2022 से चला आ रहा राजद के साथ महागठबंधन से इस्तीफा दे दिया है। नीतीश की इस पलटी ने महागठबंधन के साथ ही लोकसभा चुनाव से पहले विपक्षी धड़े वाले इंडिया गठबंधन को भी बड़ा झटका दिया है। नीतीश कुमार ने एक बार फिर पलटी मार दी है। कभी बिहार में अपने सुशासन के लिए जाने जाने वाले नीतीश कुमार ने 'सुशासन बाबू कहलाने से लेकर 'पलटू कुमार' यानी पाला बदलने वाले व्यक्ति के रूप में लंबा सफर तय किया है। इस दौरान सीएम नीतीश कुमार मुख्यमंत्री बनने के बाद चार बार पलटी मार चुके हैं।







जरा ठहरें...
ऑल इंडिया रेलवे मेन्स फेडरेशन के शताब्दी वर्ष के अवसर पर डाक टिकट जारी
उत्तराखंड सरकार समान नागरिक संहिता लागू करने वाला देश का पहला राज्य बना
राम लला विराजमान, प्रधानमंत्री ने कहा न्यायालय ने न्याय की लाज रख ली
अफगानिस्तान में दुर्घटनाग्रस्त विमान भारत का नहीं - भारत
अयोध्या में कुल छह भव्य प्रवेश द्वार बनाया गया
भारत पर टिप्पणी करना मालदीप को पड़ी भारी,
नए साल में देशवासियों को रेलवे की बड़ी सौगात जल्द दौड़ेगी वातानुकूलित शयनयान वंदेभारत
केजरीवाल पर मंडराया गिरफ्तारी का बादल
भारतीय रेलवे का किराया हवाई जहाज के किराए के बराबर पहुंचा!
एशिया के सबसे बड़े ट्र्स्ट कायस्थ पाठशाला, प्रयागराज का चुनाव 25 दिसंबर को
कनाडा में रहने और जाने वालों के लिए भारत ने जारी की चेतावनी!
“मोदी सरकार ने 3 सौ का सिलिंडर 9 साल में 12 सौ में बेचा”
प्रधानमंत्री का सपना चकनाचूर? अधर में उत्तराखंड की चार धाम रेल परियोजना!
सरकार पुरानी पेंशन योजना नहीं लागू कि तो देश भर में प्रदर्शन होगा तेज - कामरेड शिव गोपाल मिश्रा
अब रेलवे स्टेशनों पर किफायती दरों पर उपलब्ध कराया जाएगा किफायती खाना
वंदेभारत से क्या भारतीय रेलवे की आम छवि बदल जाएगी?
IRCTC इस तरह यात्रियों से हजारों करोड़ कमाने की बना रही है योजना
कहानी देश की उस डाकखाने की जहां से देश मे डाक पिनकोड की शुरूआत हुई
नई दिल्ली रेलवे स्टेशन को विश्वस्तरीय पांच सितारा होटल जैसे बनाने का काम जल्द शुरू होगा
वॉपकोस ने चलाया स्वच्छता अभियान, लोगों ने बढ़चढ़ कर लिया हिस्सा
जम्मू – कश्मीर में सुरंग नहीं देश की मजबूत रीढ़ तैयार कर रही है सरकार
दिल्ली से लखनऊ चलने वाली तेजस को नहीं मिल रहे यात्री, अनिश्चितकाल के लिए बंद
विज्ञान, तकनीकि और हौसले की मिसाल है दुनिया का यह सबसे ऊंचा रेलवे पुल
मुफ्त गैस कनेक्शन के पीछे सरकार का खेल, 8 करोड़ को दो 80 करोड़ से लो!
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
चीन मुद्दे पर क्या सरकार ने जितने जरूरी कठोर कदम उठाने थे, उठाए कि नहीं?
हां
नहीं
पता नहीं
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.
Design & Developed By : AP Itechnosoft Systems Pvt. Ltd.