ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

मुख्य समाचार

जुलाई में गर्मी के सारे रिकार्ड टूटे, बिजली की मांग ७ हजार मेगावॉट पहुंची

नई दिल्ली

10 जुलाई 2018

 दिल्ली में उमस व गर्मी के चलते बिजली की मांग ने अब तक के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। गर्मी ने तोड़ा सात साल का रिकॉर्ड तापमान 41 डिग्री सेल्सियस के पार पहुंच गया। सोमवार दोपहर में बिजली की मांग 6998 मेगावाट तक पहुंच गई। पिछले महीने 8 जून को अधिकतम मांग 6934 मेगावाट दर्ज हुई थी।

इस साल अधिकतम 7000 मेगावाट बिजली की मांग का अनुमान लगाया गया है, जो जुलाई में पहुंचने की उम्मीद है। दिल्ली में सोमवार को दोपहर 3.22 बजे बिजली की अधिकतम मांग 6998 मेगावाट दर्ज की गई। यह अबतक का रिकार्ड है। मानसून के बावजूद गर्मी ने इससे पहले रविवार को 7 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया।

तेज धूप और उमस ने दिल्लीवासियों की हालत खराब कर दी। सोमवार से मौसम के बदलने के आसार थे लेकिन ऐसा कुछ हुआ। अब मंगलवार को बारिश की संभावना जतायी जा रही है।








जरा ठहरें...
देश नफरत से नहीं चलता - अब्दुल्ला
राफेल सौदा: फ्रांस ने राहुल के बयान पर इस तरह दी सफाई
सीलिंग का मुद्दा लोकसभा में उठी
कांग्रेस शोषितों की पार्टी है - राहुल
दिल्ली की कानून व्यवस्था पूरी तरह से फेल - केजरीवाल
हैपीनेस पाठ्यक्रम पढ़ाया जाएगा स्कूलों में
जम्मूतवी एक्स्प्रेस में आग लगने से हड़कंप मचा
14 फसलों केे न्यूनतम समर्थन मूल्य की वृद्धि से किसानों में जश्न का माहौल -तिवारी
'दिल्ली के लोग त्रस्त हैं और सरकार मस्त है'
जीएसटी की अगली बैठक में प्राकृतिक गैस पर होगी चर्चा
राजधानी में बिजली संकट गहराया
गांधी परिवार ने अपनी ही पार्टी को बर्बाद किया - मोदी
इस पूरे हफ्ते गर्मी से नहीं मिलने वाली छुटकारा
दिल्ली में गर्मी से राहत नहीं, तापमान ४४ डिग्री पहुंचा
घर-घर पर्चे बांटेगी कांग्रेस
६० साल में कांग्रेस ने दलितों के लिए कुछ नहीं किया - कांग्रेस
औरंगजेब की आतंकियों ने किया गोली से छलनी
कार्ति के खिलाफ आरोप पत्र दायर
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.