ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

गुजरात

गोवंश की हत्या हुई तो उम्र कैद तक की सजा

अहमदाबाद

एजेंसी

गुजरात सरकार गोहत्या को लेकर अब और सख्त हो गई है। गुजरात विधानसभा में शुक्रवार को गोहत्या संसोधन बिल पास किया गया, जिसमें गोरक्षा के लिए बेहद सख्त प्रावधान किए गए हैं। अब गाय की हत्या करने पर उम्रकैद की सजा हो सकती है। गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपानी ने पूर्व में ही इसके संकेत दे दिए थे। रुपानी ने कहा था कि गोरक्षा के सभी प्रयास सरकार करेगी। उसी के तहत यह नया कानून लाया गया है। नए कानून को सख्ती से लागू किया जाएगा।


इस नए कानून के बाद से गोहत्या के दोषियों को उम्रकैद के साथ एक लाख रुपये का जुर्माना भी देना होगा। इसके साथ ही गोमांस ले जाने पर 7-10 साल की सजा का प्रावधान किया गया है। बता दें कि गुजरात में गोहत्या कानून पहले से ही मौजूद था। अब इस कानून को और सख्त बनाया गया है। कानून बनने से पहले पिछले सप्ताह ही राज्य के मुख्यमंत्री ने कहा था कि प्रदेश सरकार गो हत्या के कानूनों को और सख्त करने जा रही है। राज्य में इसी साल नवंबर में चुनाव हैं और इस कानून को बीजेपी के लिए चुनावी तैयारियों के तौर पर भी देखा जा रहा है। पिछले साल ऊना में गो हत्या का शक होने पर कुछ लोगों ने दलितों की पिटाई कर दी थी। इसके बाद देश भर में इस घटना की काफी निंदा हुई थी। देश भर में कई जगहों पर इसके खिलाफ प्रदर्शन भी किया गया था।




जरा ठहरें...
कमलेश तिवारी के हत्यारों को गुजरात एटीएस ने धर दबोचा!
प्रधानमंत्री ने दिल्ली में नए गुजरात भवन का किया उद्घाटन
नए एम्स की ख़बर गलत - स्वास्थ्य मंत्रालय
दुनिया की सबसे ऊंची इमारत ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ का प्रधानमंत्री मोदी ने किया अनावरण
गुजरात सरकार ने हिंदी भाषियों से लौटने की अपील की
डीजी वंजारा समेत पांच पुलिस अधिकारियों को HC से बड़ी राहत
न बाढ़ न बारिश, फिर भी प्रधानमंत्री का दौरा रद्द, छात्रों में उमड़ा आक्रोश!
नरोदा पाटिया नरसंहार : कोडनानी बरी, बाबू बजरंगी दोषी करार
सौराष्ट्र नर्मदा अवतरण सिंचाई योजना का प्रधानमंत्री ने किया शुभारंभ
मोदी का सूट ४.३१ करोड़ में बिका
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.