ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

ख़ास ख़बरें

गुजरात चुनावों के बाद संसद का शीत सत्र होगा!
रेलवे को और बजट की जरूरत नहीं - गोयल
फोर्टिज अस्पताल की अंधेरगर्दी से बच्ची की मौत, नड्डा ने...
सुविधा के नाम पर रेलवे ने फिर लादी आम लोगों...
निर्भया के भाई की मदद में जुटे राहुल गांधी!
देश में स्टील कार्गो की शुरूआत, आद्योगिक विकास को मिलेगा...

जरा इधर भी


इन तस्वीरों को देखें!

दिल्ली मेे फिर लागू हो सकती है सम-विषम व्यवस्था

दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण के स्तर के मद्देनजर एक बार फिर ऑड-ईवन स्‍कीम को लागू किया जा सकता है. यह बात दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने कही. गहलोत ने कहा कि दिल्ली सरकार प्रदूषण का स्तर बढ़ने के मद्देनजर सड़कों पर कारों की संख्या को प्रतिबंधित करने के लिए सम-विषम योजना को फिर से लागू कर सकती है.

मंत्री ने बुधवार को दिल्ली परिवहन निगम और अपने मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों को पत्र लिखकर कहा कि जब कभी सम-विषम की घोषणा की जाती है, वे इसे लागू करने के लिए 'पूरी तरह तैयार' रहें. उन्होंने कहा, 'दिल्ली में प्रदूषण का स्तर बढ़ने के साथ सरकार को सम-विषम योजना समेत आपात कदम उठाने होंगे'.

वाहनों की पंजीकरण संख्या के आखिरी अंक पर आधारित यह योजना वर्ष 2016 में दो बार- एक जनवरी से 15 जनवरी और फिर 15 अप्रैल से 30 अप्रैल तक लागू की गई थी. इस योजना के तहत सम और विषम संख्या वाले वाहन सम विषम तारीखों वाले दिनों में सड़कों पर चलते हैं. वायु प्रदूषण स्तर के 48 घंटे या इससे अधिक समय के लिए 'आपात' श्रेणी में रहने पर इसे लागू किया जा सकता है.

चरणबद्ध प्रतिक्रिया कार्य योजना (जीआरएपी) को लागू करने का अधिकार रखने वाले पर्यावरण प्रदूषण नियंत्रण प्राधिकरण (ईपीसीए) ने पिछले सप्ताह कहा था कि वह आवश्यकता पड़ने पर 'सम-विषम' योजना लागू करने, कारों को सड़कों पर नहीं चलने का आदेश देने और स्कूलों को बंद करने का आदेश देने से हिचकेगा नहीं. ईपीसीए को उच्चतम न्यायालय ने नियुक्त किया है.

जीआरपीए को नवंबर 2016 में न्यायालय के आदेश के बाद केंद्र ने इस साल जनवरी में अधिसूचित किया था. गहलोत ने कहा कि सम-विषम योजना लागू होने पर तैयारी का 'मुख्य घटक' डीटीसी द्वारा अतिरिक्त बसों की खरीदारी होगा. 27 अक्टूबर 2017, नई दिल्ली। 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
मोदी सरकार के तीन साल के कार्यकाल से आप खुश हैं?
हां
नहीं
कह नहीं सकते
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें