ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

ख़ास ख़बरें

जीएसटी परिषद के बैठक में महत्वपूर्ण फैसला १०० सामान होंगे...
रेलवे में फ्लैक्सी किराया लगने से ७ लाख यात्री दूर,...
आजाद भारत के 1.84 करोड़ लोग गुलाम, और 12 करोड़...
अविश्वास प्रस्ताव को मानकर भाजपा ने चली चाल
ममता पर जमकर बरसे मोदी
भाप इंजन की रेलगाड़ी एक बार फिर दौड़ेगी पटरी पर!...

जरा इधर भी


इन तस्वीरों को देखें!

बिल न देने के लिए व्यापारी ही दोषी नहीं, ग्राहक भी दोषी जो बिल नहीं लेते

जीएसटी कर प्रणाली के एक वर्ष पूरे होने पर आज कॉन्फ़ेडरेशन ऑफ़ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के बैनर तलेदेश भर में व्यापारियों ने "जीएसटी दिवस" के अनेक कार्यक्रम आयोजित किये। जीएसटी के एक वर्ष पूर्ण होने पर देश भर के व्यापारियों में मिश्रित प्रतिक्रिया थी।

कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी.सी.भरतिया एवं राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने कहा की जीएसटी लागू होने के पहले 6 महीनों में व्यापारियों को अनेक परेशानियां झेलनी पड़ी। जिसमें ख़ास तौर पर जीएसटी पोर्टल का सुचारू न चलना एवं लगातार जीएसटी नियमों में परिवर्तन होना रहा किन्तु एक वर्ष बीतते बीतते स्तिथि में काफी सुधार हुआ है और व्यापारी जीएसटी को अपनाने में उत्साहित हैं। लेकिन अभी भी जीएसटी कर प्रणाली का सरलीकरण होना बहुत जरूरी है जिससे आम व्यापारी भी आसानी से जीएसटी की पालना कर सके।

भरतिया एवं खंडेलवाल ने इस आरोप का जोरदार विरोध किया की व्यापारी बिल नहीं देते हैं। उन्होंने कहा की अधिकतर मामलों में उपभोक्ता बिल नहीं लेता क्योंकि वो कर नहीं देना चाहता संभवत। कर की दरें अधिक हैं। इस दृष्टि से सिर्फ व्यापारियों को दोषी ठहराना बेहद गलत है। इस दृष्टि से उपभोक्ताओं को जागरूक करना जरूरी है की वो माल लेकर बिल अवश्य लें। थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़, नई दिल्ली। 1 जुलाई 2018।

 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.