ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

ख़ास ख़बरें

चुनावी मौसम में किसानों को मोदी सरकार का तोहफा, रबी...
एसबीआई एटीएम से अब २० हजार से ज्यादा नहीं निकाल...
सर्वोच्च न्यायालय में अयोध्या मामले पर सुनवाई 29 अक्टूबर से...
यशवंत सिन्हा और शत्रुघन सिन्हा आम आदमी पार्टी से लड़ेगे...
राफेल पर महाभारत: राहुल बोले देश का चौकीदार चोर है!...
'अखिलेश राज में 97 हजार करोड़ कहां खर्च हुए कोई...

जरा इधर भी


इन तस्वीरों को देखें!

प्रधानमंत्री ने रेल कोच नवीनीकरण कारखाने का किया शिलान्यास

प्रधानमंत्री ने गढ़ी सांपला रोहतक में आयोजित एक भव्य समारोह में रेल कोच नवीनीकरण कारखाना, सोनीपत का शिलान्यास किया। सोनीपत में रेल कोच नवीनीकरण कारखाना के विकास की परियोजना वर्ष 2018-19 में स्वीकृत की गई थी और इसे वर्ष 2020-2021 तक पूरा करने का लक्ष्य है। यह 484 करोड़ रुपये की अनुमानित परियोजना लागत के साथ अत्याधुनिक मशीनरी एवं प्लांट के साथ अपने तरह का पहला नवीनीकरण कारखाना है। यह मुख्यतः एल.एच.बी. कोच एवं ट्रेन सेटों के नवीनीकरण कार्य के लिए सेवाएं प्रदान करेगा।

161 एकड क्षेत्रफल में फैले इस कारखाने में प्रतिवर्ष 250 कोचों की पीरियोडिक ऑवरहालिंग तथा नवीनीकरण की क्षमता होगी जिसका विस्तार 1000 कोच प्रतिवर्ष तक  किया जा सकता है। कारखाने की अनुमानित वार्षिक टर्न ओवर रूपये 250 करोड रूपये होगी। कारखाने की अन्य मुख्य विशेषताओं में कोच की उत्कृष्ट पेन्टिंग के लिए ऑटोमैटिक पेन्ट बूथ, 40000 वर्ग मी. फ्लोर एरिया के साथ प्री-फैब्रिकेटेड शेड आदि शामिल है। इसके अलावा, पर्यावरण हितैषी विशेषताओं में अपशिष्ट जल का शोधन एवं रिसाइकल करके जल के पुन: उपयोग के अलावा शेड की छत पर 1 मेगावाट सोलर पावर प्लांट का प्रावधान  किया जाएगा।

साइड लौवर्स एवं टर्बो वेन्ट्स के माध्यम से यूवी संरक्षित पॉलीकार्बोनेट शीटिंग एवं नेचुरल वेटिंलेशन के द्वारा प्राकृतिक रोशनी की व्यवस्था के साथ इस कारखाने का निर्माण किये जाने की योजना है। पूरे भवन, शेड एवं सर्कुलेटिंग एरिया में एलईडी प्रकाश व्यवस्था उपलब्ध कराई जाएगी तथा रेलवे की पारिस्थितिकी की प्राथमिकता के तौर पर यहॉं व्यापक पौधारोपण किया जाएगा। रेल कोच नवीनीकरण कारखाना क्षेत्रीय विकास को बढ़ावा देने के लिए एक विशिष्ट औद्योगिक केन्द्र के रूप में कार्य करेगा। अन्य प्राथमिकताएं जैसे ट्रैनिंग सेन्टर एवं वर्कशॉप सुविधाओं के माध्यम से कौशल विकास की भी योजना इसमें शामिल है। रेलवे के इस प्रयास से सहायक उद्योगों एवं वेन्डरों के लिए अनेक नये अवसर खुलेंगे और बड़ी संख्या में  प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रोजगार के अवसरों का सृजन होगा। थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़, नई दिल्ली। 10 सितंबर 2018

 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.