ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

ख़ास ख़बरें

सरकार ने पांच साल के लिए आठ उग्रवादी संगठनों पर...
दिल्ली में की जाएगी कृत्रिम बारिश!
आरबीआई के बाद सीबीआई, उर्जित पटेल देंगे इस्तीफा?
वर्मा ईमानदार आदमी थे, भ्रष्टाचार से लड़ रहे थे -...
एसबीआई एटीएम से अब २० हजार से ज्यादा नहीं निकाल...
राफेल पर महाभारत: राहुल बोले देश का चौकीदार चोर है!...

जरा इधर भी


इन तस्वीरों को देखें!

दिल्ली में पहली इलेक्ट्रिक बस सेवा की शुरूआत

दिल्ली सरकार राजधानी को प्रदूषण की मार से बचाने के लिए इलेक्ट्रिक बसें दौड़ाने की योजना पर काम कर रही है। दिल्ली सरकार ने साफ किया कि इलेक्ट्रिक बसें क्लस्टर स्कीम में चलाई जाएगी। सरकार खुद बस नहीं खरीदेगी। इच्छुक सेवा प्रदाता को सरकार किलोमीटर स्कीम के तहत भुगतान करेगी। वहीं, कंपनी को बस खरीद पर सब्सिडी देने की योजना पर काम चल रहा है।
बस रवाना करने के बाद कैलाश गहलोत ने मीडिया को बताया कि बस का ट्रायल तीन महीने तक चलेगा। जबकि दिसंबर के आखिर तक डिम्ट्स (दिल्ली इंटीग्रेटेड मल्टी मॉडल ट्रांजिट सिस्टम) इस बारे में अपनी रिपोर्ट विभाग को देगा। ट्रायल रन को ज्यादा व्यावहारिक बनाने के लिए बस को अलग-अलग रूट पर चलाया जाएगा। इससे मिले अनुभवों के आधार पर सरकार क्लस्टर स्कीम में 1000 इलेक्ट्रिक बसों के लिए निविदा जारी करेगी। पॉयलेट प्रोजेक्ट के तहत शुक्रवार को इसके ट्रायल की शुरुआत की गई। इंद्रपुरी से अंबेडकर नगर के बीच रूट नंबर-522 पर चलने वाले पहली बस को परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। करीब 24 किमी लंबे रूट पर इलेक्ट्रिक बस दिनभर में छह चक्कर लगाएगी।

डिम्ट्स अधिकारी का कहना है कि ट्रायल के दौरान बस की परिचालन लागत, उसकी क्षमता, रखरखाव समेत कंपनी की तरफ से बस को लेकर किए गए दावों को परखा जाएगा। इसके आधार पर एक रिपोर्ट तैयार होगी। जरूरी होने पर इसमें कुछ फेरबदल भी संभव है। बस में चालक को छोड़कर 33 लोग बैठ सकते हैं। इसकी लंबाई स्टैंडर्ड बस के बराबर 12 मीटर है।  3 नवंंबर 2018। थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़। नई दिल्ली।
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.