ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

ख़ास ख़बरें

शीला दीक्षित के निधन पर राहुल और मोदी सहित तमाम...
देश के एक-एक इंच जमीन से घुसपैठियों को बाहर करेंगे...
तृणमूल के विधायक और कई नेता भाजपा में शामिल
इस बार भाजपा को २५ -३० प्रतिशत मुस्लिमों ने मत...
तो अब धारा 370 को खत्म करे सरकार...!
कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय के कर्मचारियों का मानदेय न्याय संगत...

जरा इधर भी


इन तस्वीरों को देखें!

मुफ्त यात्रा देने की केजरीवाल सरकार की घोषणा पूरी तरह से झूठी साबित - मनोज तिवारी

केजरीवाल सरकार द्वारा दिल्ली की महिलाओं को मेट्रो व डीटीसी बसों में मुफ्त यात्रा देने के लिए पिंक टोकन व कार्ड देने के साथ-साथ अलग विन्डों बनाने में लगेगा आठ महीने का समय। यह कहना है डीएमआरसी का, इस मुद्दे पर अपनी कड़ी प्रतिक्रिया देते हुये भारतीय जनता पार्टी दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि केजरीवाल सरकार की मंशा केवल झूठ बोलकर दिल्ली की जनता को गुमराह करने की है।

महिलाओं को दिल्ली मेट्रो व डीटीसी बसों में मुफ्त यात्रा का प्रलोभन देकर वोट बैंक की राजनीति का असफल प्रयास करना चाह रहे केजरीवाल की नीयत के ऊपर डीएमआरसी ने सत्यता की रोशनी डाली है। डीएमआरसी का कहना है कि मुफ्त यात्रा देने की परिकल्पना को पूरा करने के लिए कम से कम आठ महीने का वक्त लगेगा। स्पष्ट है कि आठ महीने बाद दिल्ली विधानसभा चुनाव हैं और फिर चुनाव से पहले आचार संहिता भी दिल्ली में लागू हो जायेगी। प्रश्न यह उठता है कि केजरीवाल दिल्ली की महिलाओं को कब मेट्रो में मुफ्त यात्रा देंगे। लोकसभा चुनाव में दिल्ली की सातों सीटों पर जनता द्वारा नकारे जाने के बाद केजरीवाल दिल्ली विधानसभा चुनाव को नजदीक पाकर झूठी घोषणाएं कर रहे हैं।

तिवारी ने कहा कि डीएमआरसी के प्रपोजल आने के बाद यह साफ हो गया है कि दिल्ली में महिलाओं को मेट्रो में मुफ्त यात्रा देने की केजरीवाल सरकार की घोषणा पूरी तरह से झूठी है और केजरीवाल की मंशा केवल येन-केन-प्रकरेण दिल्ली की सत्ता में बने रहना है। झूठ बोलना और झूठे वादे कर दिल्ली के लोगों को ठगना केजरीवाल की राजनीति का अहम हिस्सा है। एक तरफ केजरीवाल ने दिल्ली मेट्रो के किराये में बढ़ोतरी पर अपनी सहमति देकर किराया बढ़वाया दूसरी तरफ दिल्ली विधानसभा चुनाव से ठीक पहले महिलाओं को मेट्रो में मुफ्त यात्रा का प्रलोफन दे रहे हैं।

जो कि डीएमआरसी के मुताबिक आठ महीने से पहले संभव नहीं है यदि केजरीवाल सचमुच दिल्ली की महिलाओं की सुरक्षा को लेकर गम्भीर होते और उन्हें मेट्रो की यात्रा मुफ्त देना चाहते तो यह प्रपोजल एक वर्ष पहले भी ला सकते थे। लेकिन उनकी नीयत साफ नहीं थी और वो केवल वोट बैंक की राजनीति कर रहे है। केजरीवाल वो नाकामपंथी हैं जो अपनी नाकामियों का ठीकरा पिछले साढ़े चार वर्षों से केन्द्र सरकार पर फोड़ते रहे है। आने वाले समय में जब वो महिलाओं को मुफ्त यात्रा दे नहीं पाएंगे तो उसका ठीकरा भी केन्द्र सरकार पर फोड़ेंगे।

आकाश श्रीवास्तव, थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़, नई दिल्ली। 13 मई 2019।

 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.