ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

ख़ास ख़बरें

भारत के खिलाफ चीन की खतरनाक संकेत, अब लिपुलेख के...
सीमा क्षेत्रों में निर्माण परियोजनाओं में चीनी मशीनों के उपयोग...
नेपाल ने भारतीय समाचार चैनलों को किया प्रतिबंधित
लेह में प्रधानमंत्री ने भरी हुंकार, लेह भारत का मस्तक..!...
80 करोड़ लोगों को नवंबर तक मुफ्त में अनाज दिया...
“मन की बात में चीन पर निशाना, मित्रता निभाना आता...

जरा इधर भी


इन तस्वीरों को देखें!

एसबीआई की तरफ से जेबी पंत अस्पताल को दिए गए वेंटीलेटर

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़ नेटवर्क, नई दिल्ली। 1 अगस्त 2020

भारतीय स्टेट बैंक, नई दिल्ली मंडल द्वारा एसबीआई फाउंडेशन की कॉर्पोरेट सामाजिक दायित्व गतिविधियों के तत्वावधान में जी॰ बी॰ पंत अस्पताल, नई दिल्ली को पाँच वेंटीलेटर्स दान किए गए। नई दिल्ली मंडल के मुख्य महाप्रबंधक विजय रंजन की ओर से उप महाप्रबंधक प्रणय रंजन द्विवेदी तथा जितेंद्र कुमार शर्मा, क्षेत्रीय प्रबंधक ने अस्पताल के निदेशक डॉ. अनिल अग्रवाल को सोंपें। देश का सबसे बड़ा बैंक भारतीय स्टेट बैंक कोविड-19 महामारी के खिलाफ लड़ाई में शुरू से ही सक्रिय रहा है। 

इसके लिए खर्च की गई राशि ‘स्त्रीधन’ नामक पहल के अंतर्गत प्रदान की गई थी, जिसमें एसबीआई परिवार के जीवन साथी/एसबीआई परिवार की महिलाओं द्वारा एसबीआई फाउंडेशन को योगदान स्वरूप दिया गया था। रंजन ने बताया कि महामारी के दौरान भारतीय स्टेट बैंक, नई दिल्ली मंडल ने कोविड-19 के खिलाफ अपनी लड़ाई में अन्य आवश्यक सेवा प्रदाताओं के साथ सहयोग किया है। 

पहले भी बैंक ने विभिन्न अस्पतालों, पुलिस बल, एनडीएमसी और गैर सरकारी संगठनों को सैनिटाइजर, फेस मास्क, फेस शील्ड, पीपीई किट, दस्ताने और वेंटिलेटर आदि वितरित किए हैं और वंचितों को भोजन और राशन भी वितरित किया है। जी॰ बी॰ पंत अस्पताल के निदेशक डॉ. अनिल अग्रवाल ने भारतीय स्टेट बैंक को महामारी के खिलाफ लड़ाई के लिए इस पहल के लिए धन्यवाद दिया और कहा कि बैंक द्वारा समर्थन अत्यधिक प्रशंसनीय है।
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
चीन मुद्दे पर क्या सरकार ने जितने जरूरी कठोर कदम उठाने थे, उठाए कि नहीं?
हां
नहीं
पता नहीं
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.