ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

ख़ास ख़बरें

जम्मू-कश्मीर की जोजिला परियोजना में 5 किमी लंबी सुरंग का...
हेलीकॉप्टर दुर्घटना : ब्लैक बॉक्स बरामद, एकमात्र जीवित बचा सैन्य...
देश ने संविधान निर्माता बाबा साहेब को किया याद...
कृषि उड़ान-दो में देश के ज्यादातर दूरदराज के इलाके शामिल...
नई दिल्ली रेलवे स्टेशन को विश्वस्तरीय पांच सितारा होटल जैसे...
उत्तर प्रदेश के पूर्वांचल एक्सप्रेस वे मे लगा 48 हजार...

जरा इधर भी


इन तस्वीरों को देखें!

केंद्रीय इस्तापत मंत्री ने लक्ष्य को निर्धारित समय में पूरा करने को कहा

आकाश श्रीवास्तव
थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। 9 दिसंबर 2021 

केन्‍द्रीय इस्पात मंत्री, राम चन्‍द्र प्रसाद सिंह ने वार्षिक लक्ष्‍य के विपरीत पूंजीगत व्यय (कैपेक्‍स) की प्रगति की समीक्षा की। इस्पातराज्य मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते, स्‍टील सीपीएसई यानी सेल, एनएमडीसी, आरआईएनएल, केआईओसीएल एमओआईएल और मेकॉन के सीएमडी तथा इस्पात मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों ने बैठक में भाग लिया। केन्‍द्रीय मंत्री ने स्टील सीपीएसई की कैपेक्‍स परियोजनाओं की प्रगति की समीक्षा की और एक बार फिर परियोजना कार्यों को समय पर पूरा करने के अत्यधिक महत्व पर जोर दिया। 

उन्होंने समयबद्ध परियोजना कार्यान्वयन के लिए दैनिक लक्ष्य निर्धारित करने और कड़ी निगरानी करने की सलाह दी। लक्ष्यों की यह उपलब्धि कार्यबल को प्रेरित करेगी, भारत के इस्पात उत्पादन को बढ़ाएगी और उच्च विकास को बढ़ावा देगी। उन्होंने सीएमडी को यह सुनिश्चित करने के प्रयासों को दोगुना करने का निर्देश दिया कि वर्ष 2021-22 के परियोजना लक्ष्यों को हासिल करने में किसी प्रकार की कोई परेशानी उत्‍पन्‍न न हो। इस्पात मंत्री ने पीएसयू द्वारा वित्त वर्ष 2021-22 में नवम्‍बर तक किए गए पूंजीगत व्यय की समीक्षा की। सिंह ने सीएमडी को लक्ष्य प्राप्ति में कमी को पूरा करने के लिए वित्त वर्ष की शेष अवधि के लिए दैनिक आधार पर योजना बनाने की सलाह दी।
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
चीन मुद्दे पर क्या सरकार ने जितने जरूरी कठोर कदम उठाने थे, उठाए कि नहीं?
हां
नहीं
पता नहीं
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.