ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

ख़ास ख़बरें

देश को मिली 5वीं वंदे भारत ट्रेन, प्रधानमंत्री ने कर्नाटक...
श्री जगन्नाथ यात्रा के लिए चलायी जाएगी भारत गौरव पर्यटक...
खडगे बने कांगेस अध्यक्ष लेकिन सफर चुनौतियों से भरा
2 अक्टूबर से 31 दिसंबर तक अनुसूचित जातियों की होगी...
रेलवे द्वारा दी जा रही व्रत की थाली आम आदमी...
कांग्रेस के गुलाम अब हो गए कांग्रेस से आजाद

जरा इधर भी


इन तस्वीरों को देखें!

बच्चों के लिए सड़क सुरक्षा को लेकर राष्ट्रीय संवाद

आकाश श्रीवास्तव
थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली, 18 सितंबर 2022

सिनर्जी और पर्यावरण शिक्षा केंद्र (सीईई) ने एक बहु-हितधारक 'भारत में बच्चों के लिए सड़क सुरक्षा पर राष्ट्रीय संवाद' की मेजबानी की, जिसमें इस बात पर प्रकाश डाला गया कि भारत की 25% से अधिक आबादी, या लगभग 35.67 करोड़, ऐसे बच्चे हैं जो सड़क उपयोगकर्ताओं के रूप में असुरक्षित हैं।  संवाद मंत्रालयों, विशेषज्ञों, शिक्षाविदों, कॉरपोरेट्स, व्यवसायों और नागरिक समाज समूहों के संबंधित अधिकारियों को एक साथ लाने वाले बच्चों के लिए सड़क सुरक्षा पर पहला राष्ट्रीय स्तर का विचार-विमर्श था।

सौरभ वर्मा, सह-संस्थापक, सिनर्जी ने बताया "हमारी दृष्टि सड़क दुर्घटनाओं के कारण बच्चों के बीच शून्य मृत्यु दर है। बच्चों के लिए सड़क सुरक्षा पर राष्ट्रीय संवाद आयोजित करने के पीछे यही मार्गदर्शक सिद्धांत है। संस्कृति मेनन, कार्यक्रम निदेशक, पर्यावरण शिक्षा केंद्र, ने इस बात पर प्रकाश डाला कि "हालांकि सड़क उपयोगकर्ताओं के रूप में बच्चों की सुरक्षा के बारे में सभी की एक साझा चिंता है, साझा जिम्मेदारी और कार्यान्वयन में बहु-क्षेत्रीय अनुसंधान, विनियमन और नवाचार को मजबूत करने की बहुत आवश्यकता है।  

दिल्ली पुलिस के डीसीपी ट्रैफिक आलाप पटेल ने कहा कि “बच्चों को सड़क पार करते समय या फुटपाथ पर चलते समय सड़क दुर्घटनाओं की चपेट में आ जाते हैं।  वाहन चालकों को सुरक्षित गति की आदत डालनी चाहिए और बच्चों को स्कूल से आने-जाने के लिए हाई अलर्ट पर रहना चाहिए।

 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
चीन मुद्दे पर क्या सरकार ने जितने जरूरी कठोर कदम उठाने थे, उठाए कि नहीं?
हां
नहीं
पता नहीं
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.